Thursday , July 19 2018

मुस्लिम पार्षद ने थाने ले जाकर बांध दी अपनी गाय, कहा- इससे हमारी जान को ख़तरा अब आप ही रखिए

नगर निगम पार्षद अब्दुल गफ्फार गाय लेकर नौचंदी थाने पहुंच गए। पार्षद ने कहा कि उन्हें  ¨हदू संगठनों से जान का खतरा है। लिहाजा पुलिस उसकी गाय को थाने में बांध ले और ¨हदू संगठनों के हवाले कर दे। पुलिस ने गाय को सुपुर्दगी में ले लिया। थोड़ी ही देर बाद थाने के पास रहने वाले एक व्यक्ति ने गाय पालने की इच्छा जताई। पुलिस ने उसकी सुपुर्दगी में गाय दे दी। पार्षद ने पुलिस को एक प्रार्थना-पत्र भी दिया है, जिसमें उन्होंने लिखा है कि अपने रिश्तेदार से एक बछिया ली थी। उसे बड़े मन से पाला। लेकिन पता नहीं था कि एक मुस्लिम के लिए गाय पालना खतरनाक रूप से ले लेगा। पार्षद ने आगे लिखा कि वह आए दिन मीडिया में देखते हैं गाय पालने वालों पर हिंदू संगठन हमला कर रहे हैं। किसी दिन हिंदू संगठन के नेता उनपर भी हमला कर जान का खतरा पैदा कर सकते हैं। पत्र में आगे लिखा गया, ‘मैंने अपने रिश्तेदारों से गाय पालने के लिए कहा कि लेकिन सभी ने मना कर दिया। शायद वो भी मेरे घर से अपने घर गाय के जाने में खतरा समझ रहे हैं।’

वहीं स्थानीय मीडिया की रिपोर्ट के अनुसार बीते मंगलवार (16 जनवरी, 2017) को गाय थाने लेकर पहुंचे पार्षद ने पुलिस से कहा कि उनकी गाय को थाने में ही बांध दिया जाए या पुलिस खुद गाय हिंदू संगठनों के हवाले कर दे। बाद में पुलिस ने गाय को अपने कब्जे में लेकर एक स्थानीय निवासी को दे दिया। इसके बाद गफ्फार ने मीडिया को बताया कि गाय पालने वालों पर गोरक्षक हमला कर देते हैं। उन्होंने आगे बताया कि पिछले दिनों स्थानीय क्षेत्र में ऐसा ही मामला सामने आया था। गाय पालने के कारण शख्स पर हमला किया गया। इसलिए वह अब गाय पालना नहीं चाहते।

गौरतलब है अब्दुल गफ्फार वहीं पार्षद हैं जो पिछले दिनों नगर निगम बोर्ड की बैठक में राष्ट्रगान के दौरान कथित तौर पर अपनी सीट पर बैठे हुए थे। इस घटना के बाद पक्ष-विपक्ष में जमकर विवाद हुआ था। गफ्फार पर राष्ट्र गान का अपमान करने का आरोप लगाया गया था

 

 

TOPPOPULARRECENT