उत्तर प्रदेश: पूजा पाठ करने वाले का बस का नहीं है सरकार चलाना: भाजपा नेता

उत्तर प्रदेश: पूजा पाठ करने वाले का बस का नहीं है सरकार चलाना: भाजपा नेता
Click for full image

उत्तर प्रदेश: गोरखपुर और फूलपुर में भाजपा की करारी हार के बाद पार्टी में घमासान शरू हो गया है। दोनों सीटों पर हार के बाद से अब भाजपा के तरफ से सीएम योगी के खिलाफ बगावती के सुर तेज हो गए हैं। पार्टी के एक वरिष्ठ नेता और पूर्व सांसद ने इस हार को भाजपा सरकार द्वारा पिछड़ों और दलितों की उपेक्षा को मुख्य वजह बताया है। साथ ही सीएम योगी पर हमला बोलते हुए कहा कि उनके बस का नहीं है सरकार चलाना।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

खबर के मुताबिक, भाजपा के पूर्व वरिष्ठ नेता रमाकांत यादव ने कहा है कि भाजपा सरकार द्वारा पिछड़ों और दलितों की उपेक्षा का यह नतीजा है। यादव ने पार्टी नेतृत्व को चेतावनी भरे लहजे में कहा कि अगर पार्टी समय रहते सचेत नहीं हुई तो 2019 लोकसभा चुनाव में भी भाजपा को करारी हार मिलेगी।

उन्होंने सीधे तौर पर मुख्यमंत्री योगी की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए कहा कि, जिस प्रकार से पूजा पाठ करने वाले को मुख्यमंत्री बना दिया गया उनके बस का सरकार चलाना नहीं है। पिछड़ों-दलितों को उनका हक मिलना चाहिए, सम्मान मिलना चाहिए जो योगी नहीं दे रहे हैं, और वह सिर्फ एक ही जाति तक सीमित हैं। उनहोंने कहा कि जब सरकार बनी थी तब सोचा गया था कि सभी को मिलाकर चलेंगे लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

बता दें कि उत्तर प्रदेश और बिहार में लोकसभा की तीन सीटों पर हुए उपचुनाव के बुधवार को आए नतीजों में भाजपा को बड़ा झटका लगा है। यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की गोरखपुर सीट और उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य की फूलपुर सीट पर भी भाजपा की करारी हार हुई है, और यूपी के दोनों ही सीटें सपा के खाते में चली गई। वहीं बिहार की अररिया सीट पर भी राजद ने अपना कब्जा बरकरार रखा है।

Top Stories