Saturday , December 16 2017

बाप-बेटे की लड़ाई की वजह से समाजवादी पार्टी बंटने के कगार पर, नवरात्र में हो सकती है नई पार्टी की घोषणा

लखनऊ: समाजवादी पार्टी (सपा) के मुखिया मुलायम सिंह यादव और उनके भाई शिवपाल सिंह यादव आगामी नवरात्र में नई पार्टी की घोषणा कर सकते हैं। जिससे पार्टी बंटने के आसार नजर आ रहे हैं। सपा के राष्ट्रीय प्रतिनिधि सम्मेलन अगले पांच अक्टूबर को आगरा में बुलाया गया है। राजीनीतिक गलियारों में क़यास लगाया जा रहा है कि मुलायम सिंह यादव नेशनल कांफ्रेंस से पहले एक नई पार्टी बनाने का फैसला कर सकते हैं।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

सपा के अध्यक्ष अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल सिंह यादव के अनुसार जल्द ही नई पार्टी की स्थापना करने की घोषणा की जाएगी उनका कहना था कि वह और नेताजी (मुलायम सिंह यादव) चाहते हैं कि पार्टी और परिवार एक रहे लेकिन अखिलेश यादव अपनी जिद पर अड़े हैं उनकी जिद की वजह से मजबूर होकर नई पार्टी की स्थापना करने के बारे में सोचना पड़ रहा है। सपा की राज्य सम्मेलन 23 सितंबर को लखनऊ और राष्ट्रीय सम्मेलन पांच अक्टूबर को आगरा में है।

आगरा से प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक राष्ट्रीय सम्मेलन के लिए लगने वाले होर्डिंग्स में मुलायम सिंह यादव की कोई तस्वीर नहीं होगी। पार्टी के वरिष्ठ नेता और मुलायम सिंह यादव के करीबी ने यूएनआई को बताया कि नई पार्टी का नाम ‘समाजवादी सकयुलर फ्रंट’ हो सकता है और इस का ऐलान नवरात्री में किया जा सकता है।

TOPPOPULARRECENT