Tuesday , September 25 2018

VIDEO : एक नेत्रहीन फोटोग्राफर जो तकनीक के सहारे दुनिया को समझते हैं

प्रणव लाल जन्म से ही नेत्रहीन है और उन्होने कभी ये दुनिया नहीं देखी. जो लोग देख नहीं सकते वो चीज़ों को समझने के लिए रंगों का इस्तेमाल नहीं करते. जिस तरह आम लोग अपनी आंखों से देखकर चीज़ों को समझते हैं, उस तरह प्रणव तकनीक के सहारे एक डिवाइस के ज़रिए दुनिया को समझते हैं। डिवाइस से निकलने वाली ध्वनि आसपास की चीज़ों से टकराकर उनके लिए एक ख़ाका तैयार करती है. लेकिन अफ़सोस, रंगों का कोई ख़ाका तैयार नहीं हो सकता.

उनके लिए रंग केवल एक इकाई है जिनका इस्तेमाल कंप्यूटर प्रोग्रामिंग के लिए कर सकते हैं. उनके पास रंगों का कोई अनुभव नहीं. जब हम गुलाबी कहते हैं तो आम लोगों की तरह उनके मन में कोई भाव पैदा नहीं होता है. वो नहीं समझ सकते कि किस चीज़ की बात हो रही है. हालांकि वो पढ़ा और सुना ज़रूर है कि लाल रंग का एक मतलब है लेकिन उन्होने इस मतलब को कभी अपने अंदर महसूस नहीं किया है.

अपनी अक्षमता से निडर, एक नेत्रहीन भौतिक और तकनीकी सीमाओं को आगे बढ़ा रहा है और इस प्रक्रिया में एक प्रेरणादायक व्यक्ति बन गया है। प्रणव लाल के लिए अंधापन एक “असुविधा” है जो उसे साइबर सुरक्षा में काम करने से रोकती नहीं है और इससे भी महत्वपूर्ण बात की वो फोटोग्राफी करते हैं।  लाल कहते हैं कि वह भू-दृश्य और संरचनाओं पर कब्जा करने में रुचि रखते हैं और मानते हैं कि उन्होंने अपनी आकांक्षाओं को पूरा किया है क्योंकि ।

TOPPOPULARRECENT