Saturday , November 18 2017
Home / Khaas Khabar / VIDEO: नांदेड़ चुनाव में इमरान प्रतापगढ़ी ने ओवैसी की सियासी जमीन को उजाड़ दिया!

VIDEO: नांदेड़ चुनाव में इमरान प्रतापगढ़ी ने ओवैसी की सियासी जमीन को उजाड़ दिया!

नांदेड़ महानगर पालिका की चुनाव के जो परिणाम देखने को मिले वो सोंच से कहीं अलग था। जहां कांग्रेस के लिए एक खुशी का माहौल है वहीं बीजेपी भी 6 सीटों पर खुश नहीं दिख रही है। उनके सहयोगी शिवसेना तंज कस रही है। सवाल है कि कांग्रेस को इतनी बड़ी कामयाबी कैसे मिली?

नांदेड जबसे नगरपालिका बना है, यहां कांग्रेस का ही कब्जा है। लेकिन इस बार तो 81 सीटों में 73 सीटों पर कब्जा कर इतिहास रच दिया है। इस चुनाव में कांग्रेस की सभी 24 मुसलमानों ने जीत दर्ज की है। हैरानी की बात तो 2012 चुनाव में दिखी और इस बार भी दिखी। यह हैरानी और चौकाने वाले आकड़े ओवैसी की पार्टी ‘एआइएमआइएम’ की तरफ से दिखी।

पिछले बार यानी 2012 में पहली बार चुनाव लड़ने उतरी ओवैसी की पार्टी ने 11 सीटों पर कब्जा जमाकर सभी को चौंकाने का काम किया था। इस बार इस पार्टी में खाता तक नहीं खोल सकी, यह भी चौकाने वाले ही आकड़े हैं।

जानकारों का कहना है कि बीजेपी इस बात की उम्मीद लगाई बैठी थी कि मुसलमानों का वोट ओवैसी और कांग्रेस में बट जाने से उनके उम्मीदवार को फैयदा होगा और इस बार इस नांदेड़ महानगर पालिका पर कब्जा कर लेंगे।

इन सभी के बीच कांग्रेस ने मशहूर शायर इमरान प्रतापगढ़ी को चुनाव प्रचार के मैदान में उतार दिया। इमरान प्रतापगढ़ी की मशहूर चेहरे के आगे सभी पार्टीयों को नुकसान का सामना करना पड़ा। सबसे बड़ा नुकसान ओवैसी को हुआ जो मुसलमानों को अपने पाले में लाने में नाकाम रहें।

इमरान प्रतापगढ़ी ने भी ताबड़तोड़ चुनाव प्रचार कांग्रेस पार्टी के लिए किए। इमरान प्रतापगढ़ी अपने चुनाव प्रचार के दौरान मुसलमानों को एक प्लेटफार्म पर लाने में कामयाब रहें। सच कहें तो तोड़ने की राजनीति को उन्होंने होने नहीं दिया और हिंदू – मुसलमानों की आपसी संबंधों को बेहतर करने की बात को कहकर वोट कांग्रेस के पाले में लाने में कामयाबी हासिल की।

जानकारों का कहना है कि इमरान प्रतापगढ़ी ने मुसलमानों को एक करके ओवैसी की राजनितिक जमीन को उजाड़ दिया। जानकारों की मानें तो यह असर नांदेड़ तक ही नहीं सीमीत होंगे, देश के हर हिस्से में इमरान प्रतापगढ़ी की अपील मुसलमानों को सुनाई देगी। जानकार कहते हैं, 2019 में भी ओवैसी की पार्टी के लिए उन मुस्लिम बहुमूल इलाकों में चुनौती होगी।

इमरान प्रतापगढ़ी अपने चुनावी प्रचार के दौरान यह संकेत दे दिए हैं कि मुसलमानों के लिए किसी एक पार्टी को वोट जाना ही कामयाबी है। अगर आप बिखरते हैं तो किसी भी साम्प्रदायिक पार्टी को कामयाब होने में वक्त नहीं लगेगा।

TOPPOPULARRECENT