VIDEO- पाकिस्‍तान की जेल में 6 साल सजा काटकर रिहा हुए हामिद अंसारी

VIDEO- पाकिस्‍तान की जेल में 6 साल सजा काटकर रिहा हुए हामिद अंसारी

जासूसी के आरोप में पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय नागरिक हामिद अंसारी रिहा होकर आज अपने देश लौट आए. भारतीय सीमा में दाखिल होते ही हामिद ने अपनी धरती को चूमा. उनके परिवार वाले वाघा बॉर्डर पर उन्हें लेने पहुंचे थे. छह साल पहले ऑनलाइन प्रेमिका से मिलने के लिए हामिद सीमा पार पहुंच गए थे, जिसके बाद उन्हें गिरफ़्तार कर लिया गया था. भारत ने 95 बार पाकिस्तान से अनुरोध किया था कि पाक में भारतीय उच्चायोग के अधिकारियों को हामिद से मिलने दिया जाए, लेकिन हर बार पाकिस्तान ने मांग ठुकरा दी थी. हामिद की मां फ़ौज़िया ने उनकी रिहाई के लिए काफ़ी कोशिश की. वह लगातार विदेश मंत्रालय के संपर्क में रहीं और आख़िरकार हामिद अंसारी की पाक से रिहाई हुई और वो देश वापस लौटा.

बता दें कि मुंबई के रहने वाले हामिद की पूरी कहानी शाहरुख खान और प्रीती जिंटा की फिल्म ‘वीर-जारा’ की तरह है. हामिद नेहाल पाकिस्तान की एक लड़की से ऑनलाइन मिला और उसका दीवाना हो गया. ये दीवानगी इस कदर बढ़ी कि वो अपनी प्रेमिका से मिलने अफगानिस्तान के रास्ते पाकिस्तान पहुंच गया. लेकिन यहां से उसकी मुश्किलें शुरू हो जाती हैं.

पकिस्तान की ख़ुफ़िया एजेंसी ने उसे गिरफ्तार कर लिया. भारतीय होना उसके लिए बड़ी मुसीबत थी. उस पर जासूसी का आरोप लगाया गया और फिर मुंबई में उसके परिवार को उसके बारे में महीनों कुछ भी पता ही नहीं चला. लेकिन हामिद की मां की महीनों की कोशिश और पाकिस्तान की अदालत में बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका की सुनवाई के बाद पता चला कि हामिद पाकिस्तान की सेना की हिरासत में है. वहां उस पर सैनिक अदालत में मुकदमा चलाया गया और उसे फ़र्ज़ी दस्तावेज़ बनवाने के आरोप में तीन साल की सज़ा सुनाई गई.

हामिद की मां फौज़िया अंसारी ने एनडीटीवी को बताया, ‘मेरा सब कुछ ख़त्म हो गया था लेकिन उम्मीद नहीं ख़त्म हुयी थी. खुदा की ज़ात पर मुझे भरोसा था और वही भरोसा उम्मीद की किरण बनकर मंगलवार को बेटे के रूप में मेरे सामने होगा’. उन्होंने कहा की वो सोमवार की रात पाकिस्तान हाई कमीशन से मिलकर आयी हैं उन्होंने कहा की हामिद की सजा की मियाद ख़त्म हो गई है और भारत सरकार ने भी हामिद को वापस भेजने के लिए कहा है. अब हामिद की मां बाघा बॉर्डर के लिए निकल गई हैं. उधर पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता डॉक्टर मौहम्मद फैसल ने ट्वीट करके रिहा करने की जानकारी भी दी है.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने पत्रकारों से कहा, ‘हमें पाकिस्तान से एक नोट (संदेश) मिला है कि वे भारतीय नागरिक हामिद निहाल अंसारी को मंगलवार को रिहा कर रहे हैं. यह हमारे लिए बड़ी राहत का मामला है, खासतौर पर परिवार के सदस्यों के लिए. पाकिस्तान की जेल में एक असैन्य भारतीय की कैद खत्म हो रही है.’ सरकारी सूत्रों के मुताबिक, भारत ने अंसारी तक राजनयिक पहुंच देने के लिए 96 बार ‘नोट वरबल्स’ (राजनयिक तौर पर संवाद) जारी किए और उन्हें रिहा करने का निर्णय नयी दिल्ली के लगातार दबाव का नतीजा है. प्रवक्ता ने कहा, ‘हम चाहेंगे कि पाकिस्तान अन्य भारतीय नागरिकों और मछुआरों की तकलीफ भी दूर करने के लिए कार्रवाई करे, जिनकी पहचान की पुष्टि हो चुकी है और जिनकी सजा पूरी हो गई है, लेकिन वे पाकिस्तान की जेलों में बंद हैं.’

Top Stories