Sunday , December 17 2017

जन्मदिन विशेष: मोहम्मद कैफ की वह पारी जिसने सौरभ गांगुली की कप्तानी को दी नई पहचान

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के सबसे बेहतरीन फील्डरों की श्रेणी में गिने जाने वाले मोहम्मद कैफ आज अपना 37वां जन्मदिन मना रहे हैं। कैफ का जन्म 1 दिसंबर 1980 को उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में हुआ था।

उन्होंने साल 2000 से 2006 के बीच अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर के दौरान 13 टेस्ट और 125 वनडे मैच खेले। लेकिन इंग्‍लैंड के खिलाफ नेटवेस्‍ट सीरीज के फाइनल में कैफ की पारी आज भी क्रिकेट प्रेमियों के दिमाग में ताजा होगी।
आज से ठीक 15 साल पहले यानी 13 जुलाई 2002 को इंग्‍लैंड के खिलाफ नेटवेस्‍ट सीरीज के फाइनल में टीम इंडिया को जीत मिली थी और उसमें कैफ का अहम रोल रहा था। इस मैच में भारतीय टीम ने 325 रन के स्‍कोर को चेज किया था और ट्रॉफी पर कब्‍जा जमाया था।

भारत की इस जीत में कैफ हीरो साबित हुए थे जिन्‍होंने 75 गेंदों पर नाबाद 87 रन की पारी खेली थी और युवराज सिंह के साथ छठे विकेट के लिए 121 रन की साझेदारी की थी।

भारत का स्‍कोर 145 रन तक पहुंचते-पहुंचते सौरव, सहवाग, दिनेश मोंगिया, राहुल द्रविड़ और सचिन तेंदुलकर जैसे बल्‍लेबाज आउट हो चुके थे और हार लगभग तय नजर आ रही थी।

इस मौके पर कैफ और युवराज ने अपनी बल्‍लेबाजी से जीत की उम्‍मीदें फिर जगाईं। इन दोनों ने छठे विकेट के लिए 121 रन जोड़े।

267 रन के कुल स्‍कोर पर युवराज के आउट होने के बाद हरभजन और कुंबले भी जल्‍दी ही पेवेलियन लौट गए लेकिन कैफ ने जहीर के साथ मिलकर टीम को दो विकेट की जीत दिला दी।

कैफ दाएं हाथ से खेलने वाले बल्लेबाज हैं। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 3 टेस्ट में एक सेंचुरी और तीन हाफ सेंचुरी के साथ 624 रन बनाए तो वहीं 125 वनडे में दो सेंचुरी और 17 हाफ सेंचुरी की मदद से 2753 रन बनाए हैं।

TOPPOPULARRECENT