Tuesday , December 12 2017

VIDEO : गाड़ी, बंगला और करोड़ों का बैंक बैलेंस…ये है दुनिया का सबसे अमीर गांव

आलीशान घर, चमचमाती गाड़ियां और बैंक अकाउंट में 1.5 करोड़ से ज्यादा रुपए । आप सोच रहे होंगे ये तो किसी बड़े शहर के बड़े उद्योगपति की बात कर रहे हैं । लेकिन रुकिए आलीशान घरों में रहने वाले करोड़पति लोग किसी शहर या मेट्रो सिटी के नहीं बल्कि एक गांव के हैं । जी हां एक ऐसा गांव है जहां हर बाशिंदे के पास गाड़ी,बंगला और बैंक बैलेंस है । लेकिन ये गांव भारत का नहीं बल्कि चीन का है ।

चीन के जियांगसू प्रॉविन्स के वाक्शी गांव को दुनिया का सबसे अमीर गांव कहा जाता है। ये गांव चीन के ‘सुपर विलेज’ के नाम से दुनिया भर में मशहूर है। चीन की आर्थिक राजधानी शंघाई से लगभग 135 किमी दूर बसे इस गांव में दर्जनों मल्टीनेशनल कंपनियां हैं और बड़े पैमाने पर खेती भी होती है ।

हालांकि इस गांव के लोग भी कभी गरीब हुआ करते थे, यहां भी मुफ़लिसी थी लेकिन गांव के विकास और इस बुलंदी तक ले जाने का श्रेय कम्युनिस्ट पार्टी के लोकल सेक्रेटरी वू रेनाबो को जाता है। रेनाबो ने ही गांव के विकास का खाका तैयार किया, उन्होंने कंपनी का गठन कर सामूहिक खेती को बढ़ावा दिया ।

आज इस गांव को करोड़ों डॉलर की कंपनियों का गढ़ माना जाता है, जिनमें स्टील और शिपिंग प्रमुख कंपनियां हैं। बताया जाता है कि गांव में ज्यादातर घर एक जैसे हैं और सभी में कई कमरे हैं, देखने में ये घर किसी होटल से कम नहीं लगते । साल 2011 में गांव के लोगों ने इसकी 50वीं वर्षगांठ एक 328 मीटर लंबी गगनचुंबी इमारत बनाकर मनाई।

 

 

कुछ मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो गांव में जुए और ड्रग्स पर पाबंदी है और यहां कोई प्रेस से बात भी नहीं करता है । कुछ लोगों का तो ये भी कहना है कि यहां के लोगों का पैसा उनका अपना नहीं, बल्कि गांव का है। कोई भी व्यक्ति इन पैसों को बाहर नहीं ले जा सकता ।

चीन के इस साधारण से गांव ने सुपर विलेज तक का सफ़र तय किया है लेकिन उसके लिए इच्छाशक्ति की ज़रूरत थी । हमारे देश के गांवों की भी तस्वीर बदल सकती है लेकिन यहां की राजनीतिक पार्टियों में ऐसे लोग नहीं है जो गांव और किसानों के हित की बात सोचे ।

TOPPOPULARRECENT