Sunday , December 17 2017

VIDEO: लेबनान पहुंचे प्रधानमंत्री साद अल- हरीरी के इस्तीफे को रोक कर रखा गया

बेरुत। लेबनान के प्रधानमंत्री साद हरीरी दो सप्ताह पहले सऊदी अरब में अपने इस्तीफे की अप्रत्याशित घोषणा के बाद पहली बार बेरुत पहुंचे।इससे पहले उनके इस्तीफे को रोक कर रखा गया है। उन्होंने सऊदी अरब में ऐलान कर दिया था कि मेरे जान का खतरा है इसलिए इस्तीफा दे दिया था।

हरीरी यहां बुधवार को देश के स्वतंत्रता दिवस सैन्य परेड और राष्ट्रपति भवन में समारोह में शामिल हो सकते हैं। सीएनएन की रिपोर्ट के अनुसार, बेरुत हवाईअड्डे पर मंगलवार को विमान से उतरने के बाद सुरक्षाबलों के सदस्यों ने उनका स्वागत किया। उसके बाद वह अपने पिता और पूर्व प्रधानमंत्री रफीक हरीरी के कब्र पर गए जिनकी वर्ष 2005 में हत्या कर दी गई थी।

हरीरी ने लेबनानी नागरिकों को उस समय चौंका दिया था जब उन्होंने रियाद में चार नवंबर को जान का खतरा बताकर पद से इस्तीफा देने की घोषणा की थी।

हरीरी ने इस आशंका को खारिज कर दिया था कि सऊदी अरब ने ईरान के साथ क्षेत्रीय संघर्ष की वजह से उन्हें इस्तीफा देने को मजबूर किया है।
लेबनान के राष्ट्रपति मिशेल औन ने हरीरी का इस्तीफा स्वीकार करने से इनकार कर दिया था। औन बुधवार को हरीरी से मुलाकात करेंगे।

बेरुत आने से पहले मंगलवार को हरीरी मिस्र के काहिरा और साइप्रस गए थे। उन्होंने मिस्र में राष्ट्रपति अब्देल अल-सिसी से मुलाकात की और लेबनान का समर्थन करने के लिए उन्हें धन्यवाद दिया।
बाद में वह साइप्रस के लारनाका गए जहां उन्होंने राष्ट्रपति निकोस अनास्तासियादेस से मुलाकात की।

इससे पहले लेबनान के राष्ट्रपति औन ने आरोप लगाया था कि हरीरी को उनकी इच्छा के विरुद्ध सऊदी अरब में रखा गया है। हरीरी और सऊदी अरब दोनों ने इस आरोप का खंडन किया था।

मिस्र और फ्रांस की मध्यस्ता के बाद, हरीरी पिछले सप्ताह रियाद से रवाना हो गए। उन्होंने पेरिस जाकर राष्ट्रपति इमानुएल मेक्रोन से मुलाकात की थी और वाद किया था कि बुधवार तक वह घर में होंगे।

TOPPOPULARRECENT