Monday , November 20 2017
Home / Khaas Khabar / VIDEO: नांदेड़ चुनाव प्रचार में ‘इमरान प्रतापगढ़ी’ बनाम ‘ओवैसी ब्रदर्स’

VIDEO: नांदेड़ चुनाव प्रचार में ‘इमरान प्रतापगढ़ी’ बनाम ‘ओवैसी ब्रदर्स’

महाराष्ट्र। कांग्रेस ने नांदेड़ के नगर निकाय चुनाव में शानदार प्रदर्शन करते हुए 81 में से 73 सीटों पर जीत दर्ज की| सत्ता पर कब्ज़ा ज़माने की भाजपा की कोशिशों को झटका देते हुए कांग्रेस बीजेपी को सिर्फ 6 सीटों पर समेटने में सफल रही|

शिवसेना और निर्दलीय उम्मीदवार ने भी एक एक सीट के साथ अपना खता खोला| दो दशकों से नांदेड़ नगर निकाय बनने के बाद से यहां कांग्रेस का ही शासन रहा है। लेकिन इस बार की जीत एतेहासिक है।

इसबार की चुनाव में सबसे बड़ी बात रही मुसलमानों की वोट जो बटी नहीं। इस बात को लेकर कांग्रेस भांप चुकी थी। उसने मुसलमानों को जोड़कर रखने के लिए देश के मशहूर शायर इमरान प्रतापगढ़ी को चुनाव प्रचार में उतारा था। इमरान प्रतापगढ़ी ने ताबड़तोड़ चुनाव प्रचार किये और कांग्रेस के लिए खुलकर वोट मांगे। कांग्रेस की यह रणनीति कामयाब रही और उसके सभी 24 मुस्लिम उम्मीदवार जीतने में कामयाब रहें।

इमरान प्रतापगढ़ी जहां मुसलमानों को जोड़े रखने में कामयाब रहे, वहीं ओवैसी ब्रदर्स की कोशिश रही कि कैसे मुसलमानों को बांटकर कुछ सीटें जीती जाए। ओवैसी ब्रदर्स ने इमरान प्रतापगढ़ी पर खूब हमले बोले, तरह तरह के इल्ज़ाम लगाये मगर मुस्लिम वोटरों ने कांग्रेस को वोट देने में ही भलाई समझा।

दोनों भाइयों ने भी खूब चुनाव प्रचार किए, तरह तरह के हथकंडे भी अपनाए, लेकिन पिछले 11 सीटों को भी बचाने में नाकाम रहें। जीत नहीं मिल सकी।

इस चुनाव में कांग्रेस की जीत पर शिवसेना ने भी बीजेपी पर चुटकी लेकर मजे लिए। शिवसेना ने कहा कि पूरे देश में कांग्रेस मुक्त भारत का सपना देखने वाली हमारी मित्र पार्टी नांदेड़ में अशोक चौहान से हार गयी ये बीजेपी के लिए ज़रूर धक्कादायक होगा| देश में बीजेपी हार सकती है यह बात नांदेड़ के चुनाव से साफ़ हो गया है|

2012 में हुए मतदान में कांग्रेस ने 81 सीटों में से 41 पर कब्ज़ा किया था जबकि 12 सीटों के साथ शिवसेना दूसरे तथा 11 सीटों के साथ AIMIM तीसरे पर थी| वहीं भाजपा महज 2 सीट जीतने में कामयाब रही थी| देखा जाये तो इस बार बीजेपी की सीटें बढ़ी हैं लेकिन वहीं AIMIM इस बार अपना खता खोलने में नाकाम रही|

इस चुनाव परिणाम से ये साबित होता है की मुसलमानों की पार्टी या मुसलमानों की हमदर्दी के लिए जानने वाले ओवैसी ब्रदर्स का दबदबा ख़त्म होता दिख रहा है| जानकारों का मानना है, उनका वर्चस्व धीरे- धीरे ढलान पर है|

उनकी लोकप्रियता मुसलमानों में कम होती दिख रही है| कांग्रेस के समर्थन में चुनाव प्रचार करने वाले इमरान प्रतापगढ़ी हिरो साबित हुए। इमरान प्रतापगढ़ी ने कई जगह अपनी स्पीच में कांग्रेस के लिए वोट की अपील की | खुले तौर पर कांग्रेस का समर्थन किया था| इसलिए ज़्यादातर मुसलमानों को रुझान कांग्रेस की तरफ हो गया, ऐसा माना जा सकता है|

इससे पहले कथित तौर पर ओवैसी ब्रदर्स की AIMIM मुसलमानों के हित के लिए पार्टी मानी जाती रही है| जिसके लिए वो हमेशा चर्चा में रहते हैं| दलित मुसलमान की बात करने वाले ओवैसी ब्रदर्स का नांदेड़ में जादू नहीं चल पाया|

उनको मशहूर शायर इमरान प्रतापगढ़ी ने मात दे दी| इस बार मुसलमानों की आवाज़ इमरान के साथ गूंजती नज़र आयी| इसलिए ओवैसी ब्रदर्स की तरफ चलने वाली हवा का रुख इधर हो गया| हालांकि AIMIM ने कांग्रेस की जीत पर ख़ुशी ज़ाहिर की है।

TOPPOPULARRECENT