आतंकी मस्जिदों पर हमला कर मशहूर होना चाहता था, लेकिन उसे बेनाम कर दूंगी- न्यूज़ीलैंड पीएम

आतंकी मस्जिदों पर हमला कर मशहूर होना चाहता था, लेकिन उसे बेनाम कर दूंगी- न्यूज़ीलैंड पीएम

न्यूज़ीलैंड की प्रधानमंत्री जैसिंडा आर्डर्न ने संकल्प लिया है कि वह क्राइस्ट चर्च की दो मस्जिदों पर हमला करने वाले हमलावर का नाम कभी नहीं लेंगी।

आर्डर्न ने कहा कि उसे इस आतंकी कृत्य से बहुत सी चीज़ें हासिल करनी थीं जिनमें से एक ख्याति भी थी इसीलिए आप कभी मुझे उसका नाम लेते नहीं सुनेंगे। न्यूज़ीलैंड की प्रधानमंत्री ने कहा कि वह आतंकी है, वह अपराधी है, वह चरमपंथी है लेकिन मैं जब भी इस बारे में बात करूंगी वह बेनाम रहेगा।

दूसरी ओर आस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कट मोरीसन ने फ़ेसबुक और दूसरे प्लेटफ़ार्म को इस हमले की लाइव स्ट्रीमिंग को समय पर न रोकने के कारण टिप्पणी की निशाना बनाते हुए सोशल मीडिया पर विश्व स्तर पर अंकुश लगाने की मांग की।

स्कट मोरीसन ने जी-20 के अध्यक्ष और जापान के प्रधानमंत्री शिन्जो आबे को एक पत्र लिखकर कहा कि इस मामले को संगठन की आगामी बैठक में भी उठाया जाए।

पिछले शुक्रवार को क्राइस्ट चर्च की दो मस्जिदों पर होने वाले हमले में 50 लोग मारे गए थे और दर्जनों घायल हो गए थे। यह हमला 28 वर्षीय आस्ट्रेलियाई चरमपंथी ने अंजाम दिया जो गोरों की श्रेष्ठता का विचार रखता है।

पार्स टुडे डॉट कॉम के अनुसार, न्यूज़ीलैंड की प्रधानमंत्री आर्डर्न ने क्राइस्ट चर्च हमले के चार दिनों के बाद वेलिंग्टन में कहा कि मैं आप से विनती करती हूं कि उनका नाम लें जिन्होंने इस घटना में जान गंवाई है न कि उसका जिसने यह कुकर्म अंजाम दिया है।

मंगलवार को आर्डर्न ने संसद में अपने भाषण की शुरुआत अस्सलमो अलैकुम से की। उन्होंने सोशल मीडिया प्लेटफ़ार्म पर भी अपील की कि क्राइस्ट चर्च के हमलावर की वीडियो को शेयर न किया जाए।

Top Stories