Monday , December 18 2017

VIDEO: अलाउद्दीन खिलजी क्रूर शासक नहीं बल्कि दिल्ली सल्तनत को मजबूत किया था- राम पूनियानी

फिल्म पद्मावती को लेकर राम पुनियानी ने अपनी राय रखी है। राम पुनियानी एक लेखक और प्रोफेसर हैं। उन्होंने उस वक्त की भी बात की है जब राजस्थान में फिल्म पद्मावती को लेकर शुटिंग चल रही थी और यही करणी सेना ने विरोध भी किया था।

फिल्म कुछ दिनों के लिए रोक दी और कुछ दिनों के बाद फिर शुटिंग शुरू हुई जो आज फिल्म कम्प्लीट हो गई है। फिल्म अब रिलीज होने वाली है और उसकी ट्रेलर लॉंच किया गया है। इस फिल्म के विरोध में वे लोग हैं जो करणी सेना जैसे विचार धारा के लोग हैं।

विरोध करने के नाम पर धमकी और गंदे हरकत हो रहे हैं। साथ ही आपको बता दें कि बीजेपी शासित पांच राज्यों के मुख्यमंत्री ने फैसला किया है कि यह फिल्म उनके राज्यों में नहीं दिखाई जायेगी।

इस फिल्म के बारे में आरोप लगाया है कि इतिहास के बारे में भ्रष्ट करके इसे बदल कर दिखाने की कोशिश की जा रही है। लेकिन सच्चाई कुछ और ही है। यह पुरी फिल्म एक काल्पनिक कहानी पर बनी हुई है। अल अलाउद्दीन खिलजी और पद्मावती अथवा पद्ममीनी के बारे में है।

फिल्म की इतिहास 13 वी शताब्दी की नहीं जब अलाउद्दीन खिलजी ने चित्तौड़गढ़ किले पर आक्रमण किया था, बल्कि यह कहानी मलिक मोहम्मद जायसी ने करीब दो सौ साल पहले लिखी थी। यह फिल्म उसी काल्पनिक कहानी पर आधारित है।

इस फिल्म में जो भी पद्मावती को लेकर भ्रम है वो थी ही नहीं, साथ ही जिस तरह से अलाउद्दीन खिलजी को एक क्रूर आक्रमणकारी के रुप में दिखाया गया है वो असल में बिल्कुल गलत है। अलाउद्दीन खिलजी ने बल्कि दिल्ली सल्तनत को मजबूत किया था

TOPPOPULARRECENT