Tuesday , July 17 2018

VIDEO: शोशल मीडिया वक्त की बर्बादी है और गलत जानकारी मिलती है- मोहन भागवत

सूत्रों के मुताबिक, संघ प्रमुख भागवत ने संघ प्रचारकों को सलाह दी कि वे ई-मेल को छोड़कर बाकी किसी भी तरह के सोशल मीडिया से दूर रहें। संघ प्रमुख ने कहा कि सोशल मीडिया से गलत जानकारी मिलती है और वक्त भी बर्बाद होता है।

सूत्रों के मुताबिक, भागवत ने कहा कि अगर आपस में जानकारी साझा करने के लिए कोई वॉट्सऐप ग्रुप बना है या प्रचार विभाग के लोग सोशल मीडिया के जरिए कोई जानकारी देते हैं तो वह ठीक है लेकिन संघ प्रचारकों को व्यक्तिगत स्तर पर सोशल मीडिया का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। हालांकि, संघ खुद अपने विचारों को लोगों तक पहुंचाने के लिए जमकर सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर रहा है।

संघ के कुछ संवाद केंद्रों ने यू-ट्यूब चैनल भी बनाया है। साथ ही संघ जानकारी देने या किसी मसले पर बयान देने के लिए ट्विटर का भी इस्तेमाल करता है। संघ के ऑफिशियल ट्विटर हैंडल 7 लाख 72 हजार फॉलोवर्स हैं।

संघ के फेसबुक पेज को 54 लाख से ज्यादा लोग फॉलो करते हैं। रविवार को मेरठ में हुए संघ के कार्यक्रम को भी संघ के फेसबुक पेज पर लाइव दिखाया गया। इसमें मोहन भागवत की स्पीच को करीब 5 हजार लोगों ने फेसबुक के जरिए लाइव सुना।

लाइव विडियो पर 25 हजार प्रतिक्रियाएं आईं, करीब 11500 कॉमेंट आए और 11 हजार लोगों ने इसे शेयर किया। संघ ‘गाथा’ नाम से एक ऐप भी शुरू करने जा रहा है।

इस ऐप के जरिए संघ अपने संगठन, इतिहास की जानकारी तो देगा ही साथ ही आसपास लगने वाली संघ शाखा की जानकारी भी इस ऐप से मिल सकेगी।

संघ कई जगहों पर ई-शाखा यानी वर्चुअल शाखा भी चला रहा है। इसमें आईटी, बीपीओ से जुड़े वे लोग शामिल होते हैं, जो फिजिकल तौर पर शाखा में शामिल नहीं हो पाते हैं। संघ की वेबसाइट के जरिए ‘जॉइन आरएसएस’ मुहिम भी चलाई जा रही है।

TOPPOPULARRECENT