Wednesday , December 13 2017

मोदी सरकार के इस फैसले से अरुणाचल प्रदेश में हुई हिंसा और आगजनी

ईटानगर: अरुणाचल प्रदेश में केंद्र सरकार के एक फैसल के कारण हिंसा एवं आगजनी हुई। केंद्र सरकार के चकमा और हाजोंग शरणार्थियों को भारतीय नागरिकता प्रदान के फैसले के खिलाफ प्रदेश में जमकर विरोध प्रदर्शन हो रहा है।

अखिल अरुणाचल प्रदेश छात्र संघ (एएपीएसयू) द्वारा 12 घंटे के राज्यव्यापी बंद के दौरान हुई हिंसा के कारण अरुणाचल प्रदेश में जनजीवन पर काफी असर हुआ है। सभी सरकारी कार्यालय, शैक्षणिक संस्थान, बाजार, व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद हैं जबकि निजी और सरकारी परिवहन सेवा सड़कों पर नहीं चल रही हैं। हालांकि सुबह के दौरान कुछ सरकारी बसों को सड़कों पर देखा गया लेकिन बाद में सेवा रोक दी गई।

राजधानी के पुलिस अधीक्षक सागर सिंह कलसी ने बताया कि बंद समर्थकों ने सुबह के व्यस्त समय के दौरान राज्य की राजधानी में एक सरकारी परिवहन निगम की बस और एक निजी वाहन को जला दिया और कई वाहनों को नुकसान पहुंचाया।

नमसई, चांगलांग और कई अन्य जिलों से भी हिंसा होने की खबर मिली है। केन्द्रीय गृह मंत्रालय द्वारा राज्य में चकमा और हाजोंग शरणार्थियों को नागरिकता दिए जाने के हालिया निर्णय के खिलाफ विरोध जताते हुए एएपीएसयू ने बंद का आह्वान किया है।

TOPPOPULARRECENT