VIDEO: अलवर में गौरक्षकों द्वारा मारे गए उमर की पत्नी ने कहा- ‘बच्चों के लिए दूध का बंदोबस्त करने गये थे’

VIDEO: अलवर में गौरक्षकों द्वारा मारे गए उमर की पत्नी ने कहा- ‘बच्चों के लिए दूध का बंदोबस्त करने गये थे’
Click for full image

अलवर। जिले में हुई मुस्लिम पशुपालक की हत्या में अब एक नया खुलासा हुआ है। मामले में अब तक पुलिस से दूर चल रहे घटना के वक्त मौजूद मृतक के दो साथियों का बयान सामने आया है। जिनका कहना है कि वे दौसा से भरतपुर आ रहे थे जिस समय उनके साथ मारपीट हुई और उमर और ताहिर को गोली मार दी गई।
https://youtu.be/3CnV7WvaHVc
दरअसल, मामले में अभी तक मीडिया और पुलिस से दूर चल रहे ताहिर और जावेद अपने गांव के पास रिश्तेदार के घर पर बढेर गांव में मौजूद है। उन्होंने बातचीत में बताया कि वे दौसा से भरतपुर गाय लेकर आ रहे थे। तब गहनकर गांव के पास पांच-छह लोगों ने गाड़ी रोककर उन पर फायर शुरू कर दिया था।

जिसमें उमर और ताहिर को गोली लगी है। उनका ये भी कहना है कि वह किस किस संगठन से हैं उसकी उनके पास कोई जानकारी नहीं है। मेव समाज के लोगो ने आरोपियों की गिरफ्तारी नही होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है।

मामले में मृतक की पत्नी ने बताया कि उसका पति गाय लेने के लिए 15 हजार रुपये लेकर गया था। घर मे गरीबी है इसलिए भैंस नहीं खरीद सकते थे।

बच्चों को दूध दही और घी मिल सके और कुछ दूध बेचकर आजीविका के लिए उन्हों भेजा था, अच्छा होता कि मैं उन्हें गाय लेने के लिये कभी नहीं भेजती। बता दें कि मृतक उमर खान के आठ बच्चे हैं। फिलहाल परिजन शव का इंतजार कर रहे हैं।

पुलिस अधीक्षक अलवर राहुल प्रकाश ने बताया कि मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। फिलहाल अन्य साथियों की तलाश की जा रही है।

Top Stories