Wednesday , September 26 2018

रोहिंग्या नरसंहार के अपराधियों की पहचान करने के लिए म्यांमार से पूछताछ संदेह के दायरे में : वाचडॉग

एक प्रभावशाली निगरानीकर्ता ने शुक्रवार को चेतावनी दी है कि म्यांमार द्वारा स्थापित रोहिंग्या अल्पसंख्यक के खिलाफ अत्याचार की जांच करने के लिए एक पैनल गंभीर रूप से जिम्मेदार दोष के लिए अपना कार्य नहीं ले रहा है।

ह्यूमन राइट्स वॉच एशिया डिवीजन के रिचर्ड वीर कहा कि “अब यह स्पष्ट है कि म्यांमार के लिए ‘पूछताछ का स्वतंत्र कमीशन’ रखाईन प्रांत में किए गए मानवाधिकार उल्लंघन में गंभीर और निष्पक्ष जांच नहीं होगी जिसे कथित अपराधियों को न्याय में लाया जाएगा”।

गौरतलब है की म्यांमार सरकार की मुस्लिम अल्पसंख्यक के खिलाफ अपनी सुरक्षा बलों द्वारा हिंसा के लिए आलोचना की गई है, जिसे संयुक्त राष्ट्र ने जातीय सफाई तक कहा है। इसने जिम्मेदार लोगों को खोजने के लिए एक लक्षित लक्ष्य के साथ अधिकारों के दुरुपयोग के दावों की जांच के लिए जुलाई में जांच आयोग का गठन किया गया था।

लेकिन आयोग की अध्यक्ष, फिलीपींस के रोसारियो मनालो ने कहा कि इस सप्ताह वहां कोई विशेष मुद्दे पर ध्यान नहीं दी जाएगी। उन्होंने उत्तरदायित्व स्थापित करने की प्रक्रिया को “झगड़ा,” के रूप में संदर्भित किया और कहा कि यह शांति की तलाश के विपरीत है।

ह्यूमन राइट्स वॉच ने चेतावनी दी कि, इन टिप्पणियों के आधार पर, आयोग को भारी अविश्‍वास के साथ ट्रीट किया जाना चाहिए ताकि म्यांमार गंभीर जांच से खुद को बचाने के लिए इसका उपयोग करने की कोशिश न कर पाए।

TOPPOPULARRECENT