Tuesday , December 12 2017

हमने रखाइन में रोहिंग्या मुसलमानों की जो हालत देखी, वह किसी क़यामत से कम नहीं: ब्रिटेन

ब्रिटेन ने म्यांमार को चेतावनी दी है कि रोहिंग्या संकट एक ‘अस्वीकार्य त्रासदी’ है और आंग सान सूकि की सरकार को हिंसा खत्म करना चाहिए। उन्हें इंसानी हमदरदी की बुनियाद पर दी जाने वाली सहायता के रास्ते में रुकावटों को खत्म करनी होंगी।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

ब्रिटेन के एशिया के लिए मंत्री मार्क फील्ड का कहना है कि ‘हमने रखाईन में पिछले कुछ सप्ताह के दौरान जो देखा है वह वास्तव में एक अस्वीकार्य त्रासदी है’।

यह बयान उन्होंने गुरुवार को म्यांमार के दौरे के बाद दिया। जिसके दौरान उनकी मुलाकात आंग सान सूकि से हुई और उन्होंने पश्चिमी राज्य रखाइन का दौरा किया, जो रक्तपात का केंद्र रहा है।

वे कहते हैं कि हमें हिंसा को खत्म करने की जरूरत है ताकि वे सभी लोग जो चले गए हैं वह त्वरित और सुरक्षित रूप से अपने घर वापस लोट सकें। मार्क फील्ड ने कहा कि बर्मा ने हाल के वर्षों के दौरान बड़े और निर्णायक कदम के जरिए कार्य किया है, लेकिन वहाँ जारी हिंसा और रखाइन में मानवीय संकट उसके विकास को खतरे में डाल रहा है।

TOPPOPULARRECENT