क्या पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति शासन लगाने की गलती करेगी मोदी सरकार?

क्या पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति शासन लगाने की गलती करेगी मोदी सरकार?

पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी राष्ट्रपति शासन की मांग कर सकती है, पार्टी के बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने कहा है कि राज्य में हालात काबू में नहीं है ऐसे में पार्टी राष्ट्रपति शासन की मांग कर सकती है।

हालांकि उन्होंने कहा कि बीजेपी वैचारिक तौर पर राष्ट्रपति शासन से खिलाफ है लेकिन ममता राज्य को संभालने में पूरी तरह नाकाम हो गई है।

पिछले दो दिन में बंगाल में बीजेपी के 3 कार्यकर्ताओं की हत्या के बाद से बंगाल में बवाल जारी है। इसे लेकर बंगाल में बीजेपी आज काला दिवस मना रही है।

इंडिया टीवी न्यूज़ डॉट कॉम के अनुसार, बशीरहाट में 12 घंटे का बंद बुलाया है। बीजेपी कार्यकर्ताओं ने कोलकाता में ममता सरकार का पुतला फूंका। हावड़ा में जब बीजेपी कार्यकर्ता जय श्रीराम के नारे लिख रहे थे, तो पुलिस से उनकी झड़प हो गई। इस बीच नॉर्थ चौबीस परगना में बीजेपी कार्यकर्ताओं ने ट्रेन रोक दी।

बंगाल में हिंसा को लेकर राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी ने थोड़ी देर पहले प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात की है, प्रधानमंत्री से मुलाकात के बाद केसरीनाथ त्रिपाठी ने गृह मंत्री अमित शाह ने मुलाकात करने पहुंचे हैं। माना जा रहा है कि शाह के साथ बैठक में केसरीनाथ त्रिपाठी बंगाल के हालात की जानकारी देंगे।

Top Stories