Wednesday , July 18 2018

पश्चिम बंगाल हिंसा: मुस्लिम बहुल इलाकों से दूर रहे राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी ने शनिवार को दंगा प्रभावित आसनसोल और रानीगंज इलाकों का दौरा किया। इस दौरान राज्यपाल ने दंगा पीड़ितों से मुलाकात की लेकिन अपने साढ़े चार घंटे के इस दौरे में राज्यपाल मुस्लिम बहुल इलाके में नहीं गए। जब प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी से इस बारे में सवाल किया गया तो उन्होंने इसका जवाब ही नहीं दिया।

पश्चिम बंगाल में दंगों की शुरुआत रामनवमी के एक दिन बाद 26 मार्च से हुई। पश्चिमी बर्दवान जिले के आसनसोल और रानीगंज में 2 लोगों मारे गए हैं, वहीं कई अन्य लोग घायल हुए हैं। दर्जनभर से ज्यादा दुकानों में तोड़-फोड़ और आगजनी करने की खबर है।

दंगा प्रभावित इलाकों का दौरा करने के बाद राज्यपाल ने आसनसोल सर्किट हाउस में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मीडिया से बात की। राज्यपाल ने कहा कि सभी लोगों को एक दूसरे के धार्मिक त्यौहारों के प्रति सम्मान रखना चाहिए।

राज्यपाल के दौरे पर एक मुस्लिम स्कूल टीचर तारिक अनवर का कहना है कि हमनें सुना है कि राज्यपाल आए थे। हम उम्मीद कर रहे थे कि वह हमसे भी मिलेंगे। वह सरकार के मुखिया हैं ना कि किसी समुदाय के। उन्हें कम से कम उस इमाम के पास तो जाना चाहिए था, जिसने दंगों में अपना बेटा खोया है।

दंगा प्रभावित इलाकों के एक पार्षद नसीम अंसारी ने कहा कि माननीय राज्यपाल आसनसोल में किसी भी अल्पसंख्यक इलाके में नहीं गए, हम नहीं जानते क्यों? वहीं अल्पसंख्यक इलाकों के छात्रों का कहना है कि वह दंगों के कारण अपनी परीक्षाएं नहीं दे पा रहे हैं। हमारी अपील है कि राज्यपाल हमें दोबारा परीक्षा देने का इंतजाम कराएं।

TOPPOPULARRECENT