पश्चिम बंगाल में हिंसा की वजह बने शौभिक के परिवार की मदद करने आगे आए मुसलमान

पश्चिम बंगाल में हिंसा की वजह बने शौभिक के परिवार की मदद करने आगे आए मुसलमान

पश्चिम बंगाल के कुछ इलाकों में फेसबुक पोस्ट के बाद फैली हिंसा के बीच हिन्दू-मुस्लिम समुदाय के लोग भाईचारे और शांति बनाये रखने का संदेश दे रहे हैं।

सोशल मीडिया यूज़र्स राज्य के लोगों की आपसी समझ और भाईचारे के उद्धारहण देते हुए उनकी सराहना कर रही है।

दरअसल 17 साल के शौभिक के पोस्ट को लेकर ही हंगामा शुरू हुआ, जिसकी चपेट में पहले बादूड़िया, बशीरहाट, देगंगा जैसे इलाके आये और बाद में उसकी चपेट में कई जिले आ गये।

इसके बाद कुछ लोग शौभिक के घर में आग लगा दी, लेकिन शौभिक और उसके परिवार को बचाने के लिए मुस्लिम समुदाय के लोग ही सामने आये। गांव के ही एक मुस्लिम शख्स मक़सूद ने शौभिक के घर में लगी आग बुझाने के लिए फायर ब्रिगेड को फ़ोन किया

मस्ज़िद कमेटी के अमिरुल इसलाम ने ही मसजिद की माइक से एलान कर लोगों को बुला कर आग बुझाने में मदद करने की अपील की थी।
जिस शख्स ने शौभिक के परिवार को घर जल जाने के बाद रहने की जगह दी वह भी मुस्लिम हैं।

शौभिक के पोस्ट के पहले जिस तरह से जिस तरह से ये एक अमन पसंद गाँव था, आज भी बरकरार है।

सोशल मीडिया के जरिये बशीरहाट की एक तस्वीर सामने आई है,जहाँ पर हिंसा के बाद दोनों समुदायों के लोग मिलकर रह रहे हैं और खाना बनाकर खा रहे हैं।


इस गांव के दोनों समुदायों के लोग खुद के गांव में आपसी भाईचारा रखते हुए दूसरे गांवों में भी जा रहे हैं और लोगों से शांति बनाये रखने की अपील कर रहे हैं।

 

 

Top Stories