Monday , November 20 2017
Home / India / जब रामनाथ कोविंद ने कहा कि इस्लाम और ईसाई धर्म भारतीय नहीं

जब रामनाथ कोविंद ने कहा कि इस्लाम और ईसाई धर्म भारतीय नहीं

नई दिल्ली। भाजपा के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद ने सात साल पहले भाजपा के वरिष्ठ नेता और प्रवक्ता रहते कहा था कि इस्लाम और ईसाई धर्म भारतीय नहीं हैं।

उस दौरान भाजपा मुख्यालय में पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए उन्होंने यूपीए सरकार गठित रंगनाथ मिश्रा कमीशन ने सरकारी नौकरियों में मुसलमानों को 10 फीसदी और अन्य धार्मिक अल्पसंख्यकों को 5 फीसदी आरक्षण देने की सिफारिश के समय कही थी।

इस समिति ने यह सिफारिश की थी मुसलमान और ईसाई बन गए दलितों को भी अनुसूचित जाति में शामिल किया जाना चाहिए। फिलहाल हिंदू, बौद्ध और सिख धर्म के दलितों को ही अनुसूचित जाति के आरक्षण का लाभ मिलता है।

इस समिति की अध्यक्षता कर रहे रंगनाथ मिश्रा सुप्रीम कोर्ट के पूर्व मुख्य न्यायधीश थे। उस समय रामनाथ कोविंद से यह सवाल पूछा गया था कि क्या धर्म परिवर्तन करके जो दलित मुस्लिम या ईसाई बन गए हैं क्या उन्हें अनुसूचित जाति के तहत शामिल करके आरक्षण नहीं दिया जाना चाहिए?

TOPPOPULARRECENT