Tuesday , September 18 2018

फिल्म ‘मुल्क’ के निदेशक अनुभव स‍िन्‍हा ने बताया, क्यों मुसलमान आतंकवाद की राह पर जाता है

हैदराबाद। अपनी फिल्म के प्रचार के लिए आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में डायरेक्‍टर अनुभव स‍िन्‍हा ने कहा, ‘मुल्क’ में ऋष‍ि कपूर और अभ‍िनेत्री तापसी पन्‍नू स्‍टारर हैं। एक पत्रकार ने फिल्म के निदेशक अनुभव सिन्हा से पूछा कि क्यों उन्होंने सोचा कि युवा मुस्लिम लड़के आतंकवादी संगठनों में शामिल हो रहे हैं?

सिन्हा ने उससे पूछा कि पत्रकार वास्तव में समाचार पत्र पढ़ते हैं या नहीं, निष्पक्ष समाचार देखे जाते हैं। उन्होंने जवाब दिया कि हम ऐसे देश में रहते हैं जहां राजनेता जेलों से वालों के साथ जेल से बाहर दंगे का स्वागत करते हैं।

वह केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा का जिक्र कर रहे थे, जिन्होंने हाल ही में जमानत पर रिहा किए गए मामले में हत्या के दोषी पाए गए आठ लोगों का सम्मान कर विवाद में आ गए थे। हजारीबाग सांसद ने गौरक्षा के नाम पर रामगढ़ में कोयला व्यापारी अलीमुद्दीन अंसारी की हत्या के मामले के आरोपियों को सम्मानित किया था।

‘मुल्क’ का ट्रेलर बताता है कि यह उनकी अब तक की पेशकश से बिल्कुल अलग है। बेटे के आतंकी गतिविधियों में शामिल होने के बाद एक मुस्लिम परिवार को शिकार बनाया जाना आज के समय में प्रसांगिक है। इससे पहले कोई भी नहीं सोच सकता था कि यह कितना मुश्किल होगा।

‘मुल्क’ के ट्रेलर में कुछ भी छिपा नहीं है। इसने दिल को सुन्न कर देने वाले सभी दृश्यों को ईमानदारी के साथ सबके सामने रखा है। ट्रेलर से हमें पता चलता है कि प्रतीक बब्बर एक मुस्लिम परिवार का बेटा है। इस कारण परिवार पर आतंकी गतिविधियों में शामिल होने का आरोप लगता है।

करीब ढाई मिनट के इस ट्रेलर में अभियुक्त के परिवार को शिकार बनाते हुए और पाकिस्तानी राष्ट्र-विरोधी के रूप में दिखाया गया है। साथ ही इसमें एक पक्ष हिंदुत्व का भी है। इस ट्रेलर में अदालत के भी कई दृश्य हैं और इसमें तापसी पन्नू और आशुतोष राणा आतंकी आरोपी के लिए और उसके खिलाफ एक-दूसरे से लड़ते हुए दिखाई देंगे।

TOPPOPULARRECENT