Friday , June 22 2018

ताजमहल ही क्यों? संसद और राष्ट्रपति भवन को भी गिरा देना चाहिए, संगीत पर भड़के आजम खान

बीजेपी नेता ने दुनिया के सात अजूबों में शुमार भारत की धरोहर ताजमहल को ‘भारतीय संस्कृति पर कलंक’ बताते हुए कहा कि गद्दारों के बनाए ताजमहल को इतिहास में जगह नहीं मिलनी चाहिए।

eFacebook पे हमारे पेज को लाइक करqने के लिए क्लिक करिये

जबकि इससे उत्तर प्रदेश की योगी सरकार द्वारा राज्य की पर्यटन स्थल ताजमहल को सूची से बाहर किए जाने का मामला अभी ठंडा भी नहीं हुआ था कि बीजेपी के विधायक और फायरब्रांड नेता संगीत सोम ने एक विवादित बयान देकर इस मामले को और आगे बढ़ा दिया है।

मंगलवार को संगीत सोम के इस विवादित बयान पर समाजवादी पार्टी(सपा) के वरिष्ठ नेता आजम खान ने बिना नाम लिए कहा कि अकेले ताजमहल ही क्यों? संसद भवन, राष्ट्रपति भवन, कुतुब मीनार, लालकिला क्यों नहीं? उन्होंने कहा कि ये सब गुलामी की निशानी है इन सभी को गिरा देना चाहिए।

बातचीत के दौरान उनहोंने कहा कि मैं पहले से कहता आ रहा हूं कि गुलामी की उन तमाम निशानियों को मिटा देना चाहिए जिससे कल के शासकों की बू आती हो। सपा नेता ने कहा कि जाहिर है जिन्हें आरएसएस के लोग गद्दार कहते हैं, अगर ये गद्दारों की निशानियां है तो इसे ध्वस्त कर देना चाहिए। छोटे बादशाह से तो हमने कहा कि आप आगे चलो हम साथ चलेंगे। पहला फावड़ा आपका होगा दूसरा हमारा होगा।

TOPPOPULARRECENT