ओवैसी का अल्लाहुअक्बर, बीजेपी के जय श्री राम और साक्षी महाराज के मंदिर वहीं बनायेंगे!

ओवैसी का अल्लाहुअक्बर, बीजेपी के जय श्री राम और साक्षी महाराज के मंदिर वहीं बनायेंगे!

देश की सबसे बड़ी पंचायत संसद का निचला सदन सांसद के शपथ ग्रहण के दौरान धर्म की पहचान बताने का अखाड़ा बन गया। ज्यादातर सांसदों ने नियमों के विरुद्घ शपथ लेने के बाद धार्मिक पहचान से जुड़े नारे लगाए। धार्मिक पहचान से जुड़े नारों की मुठभेड़ हुई। जबर्दस्त टोकाटोकी-हंगामे के बीच जय श्री राम के जवाब में अल्ला हू अकबर केनारे लगे।

एक सांसद ने संविधान जिंदाबाद का नारा लगाते हुए वंदेमातरम को इस्लाम के खिलाफ बताया। प्रोटेम स्पीकर को दर्जनों बार शपथ के अतिरिक्त कोई और बात रिकार्ड में न डालने की बात दोहरानी पड़ी। लोकसभा के इतिहास का यह संभवत: पहला मौका था जब शपथ के बाद इतनी बड़ी संख्या में सांसद धार्मिक नारे लगाते दिखे।

सत्रहवीं लोकसभा के दूसरे दिन कई बार धार्मिक पहचान से जुड़े नारे विपरीत धर्म के सांसदों को चिढ़ाने केअंदाज में लगाते देखे गए। कई सांसदों ने शपथ के बाद अपनी वैचारिक पसंद बताने के लिए नारों का उपयोग किया। ज्यादातर सांसदों ने शपथ के बाद जयश्रीराम, जय मां काली, जय भीम, जय समाजवाद, राधे राधे, वाहे गुरू दी खालासा वाहे गुरू दी फतेह, अल्ला हू अकबर जैसे नारे लगाए।

जब भी कोई सदस्य शपथ लेने आता भाजपा के सदस्य जयश्री राम का नारा लगाने लगते। इसी बीच जब बारी असादुद्दीन ओवैसी की आई तो जयश्री राम-वंदे मातरम का नारा तेज हो गया। इसके बाद ओवैसी ने शपथ लेने के बाद अल्ला हू अकबर का नारा लगाया। फिर उनकी भाजपा सदस्यों से नोंकझोंक शुरू हो गई और जयश्री राम का नारा और तेज हो गया। इस पर ओवैसी बोले, अच्छा है मुझे देख कर आपको नारे याद आ रहे हैं।

इसी दौरान जब बारी संभल के शफीकुर्रहमान बर्क की आई तो फिर से जयश्री राम का नारा तेज हो गया। इस पर शपथ लेने केबाद बर्क की भाजपा सदस्यों से कहासुनी शुरू हो गई। बर्कने कहा कि संविधान जिंदाबाद मगर वंदेमातरम इस्लाम के खिलाफ है। इस पर सदन में शेम शेम के नारे लगे।

हेमामालिनी ने शपथ लेने केबाद राधे राधे और कृष्णम वंदे जगत गुरू का नारा लगाया। बसपा सदस्यों ने जयभीम तो सपा के सदस्यों ने जय समाजवाद के नारे लगाए।

ज्यादातर सांसदों ने नियमों के विरुद्घ शपथ लेने के बाद धार्मिक पहचान से जुड़े नारे लगाए। धार्मिक पहचान से जुड़े नारों की मुठभेड़ हुई। इस बीच प्रोटेम स्पीकर को दर्जनों बार शपथ के अतिरिक्त कोई और बात रिकार्ड में न डालने की बात दुहरानी पड़ी।

संभल के शफीकुर्रहमान बर्क की जब बारी आई तो फिर से जयश्री राम का नारा तेज हो गया। इस पर शपथ लेने के बाद बर्क की भाजपा सदस्यों से कहासुनी शुरूहो गई। बर्क ने कहा कि संविधान जिंदाबाद है, मगर वंदेमातरम इस्लाम के खिलाफ है। इस पर सदन में सेम-सेम के नारे लगे।

भाजपा सांसद साक्षी महाराज के सांसद के रूप में शपथ लेने के बाद ‘मंदिर वहीं बनाएंगे’ के नारे लगने लगे। भगवा कपड़े पहने साक्षी महाराज ने संस्कृत भाषा में शपथ ली। साक्षी महाराज ने अपनी शपथ में ‘जय श्रीराम’ शब्द जोड़ा था। इसके जवाब में भाजपा सांसदों ने मेज को थपथपाया और ‘मंदिर वहीं बनाएंगे’ के नारे लगाए।

साक्षी महाराज विवादित बयानों के लिए जाने जाते हैं। चुनाव प्रचार के दौरान उन्होंने कहा था, ‘अगर आप लोग मुझे वोट नहीं दोगे तो आपको श्राप लगेगा।

Top Stories