Sunday , April 22 2018

मायावती के साथ गठबंधन बनाए रखने के लिए मंदिर और मस्जिद जाएंगे : अखिलेश यादव

नई दिल्ली। गोरखपुर और फूलपुर उपचुनाव में समाजवादी पार्टी की जीत पर पार्टी मुखिया अखिलेश यादव ने मायावती के साथ अच्छे संबंध बनाए रखने की ओर इशारा किया। ज़ी इंडिया सम्मेलन में उत्साहित अखिलेश ने कहा कि मैंने हमेशा उनके साथ बुआ जैसा सम्मान किया है और संबंध अब बेहतर हैं।

हम मंदिर, मस्जिद और सभी धार्मिक स्थानों पर मायावती के साथ गठबंधन बनाए रखने के लिए जायेंगे। बहुजन समाज पार्टी के साथ गठबंधन के बाद समाजवादी पार्टी ने सीट जीती है जो पहले भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पार्टी का गढ़ था। भाजपा सरकार के कामों पर बोलते हुए यादव ने कहा कि पार्टी ने अब तक राज्य के लिए कुछ नहीं किया है।

लोग आज भाजपा से पूछ रहे हैं कि उन्होंने उनके लिए क्या किया है। लोगों के विकास के लिए उन्होंने कुछ नहीं किया है। पिछले साल चुनाव में उनकी हार पर बात करते हुए अखिलेश ने कहा कि भाजपा की तुच्छ राजनीति चुनाव हारने का कारण बनी। मेरे लिए राजनीतिक उतार चढ़ाव नया नहीं है।

मैंने नेताजी की सरकार को सत्ता में आते भी देखा है और जाते भी देखा है। यूपी के लोगों ने हमारी मदद की लेकिन भाजपा की निम्न स्तर की राजनीति हमारी हार का कारण थी। नोएडा शहर पर अफवाहों को लेकर अखिलेश ने हंस कर कहा कि राज्य में सपा जब सत्ता में थी तो मैंने नोएडा के लिए बहुत काम किया।

मैं मुख्यमंत्री बनने के बाद यात्रा करूंगा या नहीं, बाद में फैसला किया जा सकता है। हालांकि, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने हाल ही में मेट्रो लाइन के उद्घाटन के लिए दिसंबर में नोएडा का दौरा किया था।

जब उनसे पूछा गया कि क्या सपा राष्ट्रीय राजनीति की तैयारी कर रही है तो अखिलेश ने इनकार करते हुए कहा कि मैं उत्तर प्रदेश में खुश हूं। मेरे लिए केवल विकास ही बड़ा लक्ष्य है।

TOPPOPULARRECENT