एक साल के भीतर पाकिस्तान ने किया अपने परमाणु हथियार की संख्या में बढ़ोतरी : रिपोर्ट

एक साल के भीतर पाकिस्तान ने किया अपने परमाणु हथियार की संख्या में बढ़ोतरी : रिपोर्ट

स्टॉकहोम अंतरराष्ट्रीय शांति अनुसंधान संस्थान (SIPRI) के सोमवार (17 जून, 2019) को प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक 2019 की शुरुआत में परमाणु-संपन्न देशों (भारत सहित) के पास कुल 13,865 परमाणु हथियार थे। जो 2018 की शुरुआत में 14,465 से 600 परमाणु हथियारों की कमी है। रिपोर्ट के मुताबिक एक साल के भीतर भारत के परमाणु हथियारों में ना कोई कमी आई और कोई बढ़ोतरी नहीं हुई है। रिपोर्ट के मुताबिक एक साल के भीतर पाकिस्तान ने अपने परमाणु हथियार को संख्या में विस्तार किया है। पड़ोसी मुल्क में साल 2019 में जहां 140 से 150 के बीच परमाणु हथियार थे वो संख्या 2019 में बढ़कर 150-160 के बीच पहुंच गई। इस दौरान भारत के परमाणु हथियार की संख्या 130-140 के बीच रही जो साल 2018 में भी वहीं थी।

गौरतलब है कि संपन्न देश अब अपने परमाणु हथियारों का आधुनिकीकरण कर रहे हैं और चीन और पाकिस्तान अपने हथियारों की संख्या बढ़ा रहे हैं। दुनियाभर में 2018 के बाद से परमाणु हथियारों की संख्या में कमी आई है लेकिन अब देश अपने हथियारों का आधुनिकीकरण कर रहे हैं।

SIPRI रमाणु हथियार नियंत्रण कार्यक्रम के निदेशक शैनन काइल ने बताया, दुनिया कम लेकिन नए हथियार रखना चाहती है। हाल के वर्षों में परमाणु हथियारों में कमी का श्रेय मुख्यत: अमेरिका और रूस को दिया जा सकता है जिनके पास कुल हथियार दुनिया के परमाणु हथियारों का 90 फीसदी से अधिक हैं। यह अमेरिका और रूस के बीच 2010 में नयी ‘स्टार्ट’ संधि के कारण संभव हो पाया है जिसके तहत तैनात हथियारों की संख्या सीमित रखने का प्रावधान है। साथ ही इसमें शीत युद्ध के समय के पुराने हथियारों को खत्म करने का भी प्रावधान है।

Top Stories