नासा छीन ना ले ‘चांद का टुकड़ा’, इसलिए महिला ने खटखटाया अदालत का दरवाजा

नासा छीन ना ले ‘चांद का टुकड़ा’, इसलिए महिला ने खटखटाया अदालत का दरवाजा
Click for full image

वॉशिंगटन। चांद पर कदम रखने वाले पहले अंतरिक्ष यात्री नील आर्मस्ट्रांग द्वारा वहां से लाया गया बेहतरीन उपहार ‘चांद का एक टुकड़ा’ जिस महिला को उपहार में दिया, उसे अब इसके छिनने का खतरा महसूस होने लगा है। इससे पहले कि किसी की नजर इस पर लगे, जिसमें कि अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा भी शामिल है, उक्त महिला ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है।

सिनसिनाटी की लॉरा सिक्को ने फेडरल कोर्ट में नासा के खिलाफ केस दायर कर कहा है कि चांद से लौटते वक्त आर्मस्ट्रांग ने एक शीशी में चांद की मिट्टी भर ली थी और उसे बतौर उपहार उनको सौंपा था। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक आर्मस्ट्रांग उक्त महिला के पिता के मित्र थे।

सिक्को के पिता टॉम मरे अमेरिकी सेना में पायलट थे और वह लंबे समय से आर्मस्ट्रांग को जानते थे। 1970 में अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री ने मरे की बेटी लॉरा को चांद की मिट्टी से भरी शीशी बतौर उपहार दी और उसके साथ ही हाथ से लिखा एक नोट भी उनको सौंपा था। तब लॉरा 10 साल की थीं।

सिक्को की याचिका में लिखा गया है कि नासा पर मुकदमा इस एजेंसी के इतिहास को देखते हुए किया जा रहा है क्योंकि यह पहले भी अंतरिक्ष से जुड़ी हुई कोई भी चीज किसी से भी जब्त कर लेती है।

लॉरा के वकील ने कहा कि ऐसा कोई कानून नहीं है जो इस एजेंसी को लोगों से अंतरिक्ष की चीजें छीनने से रोकता हो। वैज्ञानिकों ने पुष्टि की है कि सिक्को के पास मौजूद मिट्टी चांद की सतह की हो सकती है।

 

Top Stories