Saturday , September 22 2018

VIDEO- सीमा प्रमुख ने दी चेतावनी, करीब 1000 जिहादी दुल्हनें यूरोप लौट रही हैं

हिंदी सियासत टीम : लगभग 1000 जिहादी दुल्हनों की सेना यूरोपीय देश वापस लौट रही हैं. क्योंकि इस्लामी स्टेट के खलीफा कोलैप्स हो गए हैं और उनके दुल्हनें अब वापस युरोपीए देश की तरफ रूख कर रहीं हैं, जो आतंकवाद की एक खतरनाक लहर पैदा कर सकती है। ब्रसेल्स का मानना ​​है कि आईएसआईएस की गिरावट से उसके क्षेत्र में महिलाओं और उनके बच्चों को मध्य पूर्व भागने और पश्चिम में स्थानांतरित करने के लिए प्रेरित किया जा रहा है।

यूरोपीय संघ की सीमा एजेंसी फ्रॉन्टेक्स की एक रिपोर्ट ने चेतावनी दी है कि विधवा और अनाथ बच्चों के दीर्घकालिक इस खतरे को का आकलन करना कठिन है। यह आईएस के उदय के बाद जिहाद के लिए महिलाओं की एक भयावह प्रवृत्ति सक्रिय भूमिका में थी। सितंबर 2016 में नोट्रे डेम कैथेड्रल पर हमला करने के लिए कई महिलाएं शामिल थीं, जो हाई-प्रोफाइल केस था. ब्रिटिश महिलाओं ने तब भागकर आइएसआइ लड़ाकों से शादी कर उसके समुह में जुड़ गई थी। फ्रोंटेक्स का कहना है कि ‘यूरोप में रहने वाले 5000 विदेशी आतंकवादी लड़ाकों का अनुमानित 30 प्रतिशत, जो सीरिया, इराक या लीबिया छोड़ दिया है और अब युरोपीए देश में वापस आ रही है।

‘सैकड़ों दुल्हनों और बच्चों को  पहचानने में कई चुनौतियां आ रही हैं जो जटिल होती हैं।’ माना जाता है ‘यूरोप से करीब 1,000 महिलाएं मध्य पूर्व के विभिन्न जिहादी समूहों में शामिल हो गए थे, मुख्य रूप से दाहेश इसके अलावा कई सौ नाबालिगों को भी इसी क्षेत्र में लाया गया या उनका जन्म हुआ। 2017 में एक ब्रिटिश महिला जिहादी जो व्हाइट विडो के नाम से जानी गई थी, वह यूएस की ड्रोन स्ट्राइक में आईएस राजधानी रक्का से भागने का प्रयास में मारी गई थी।

आतंकवादी समूह के लिए भर्ती होने से पहले 2013 में केंट के सैली जोन्स, अपने बेटे के साथ सीरिया से भाग गई थी। वह इराक और सीरिया की सीमा के पास एक मिसाइल द्वारा मार डाली गई थी, क्योंकि उसने रक्का में आइएसआई समूह के गढ़ से भागने की कोशिश की थी।

एमआई-6 में वैश्विक आतंकवाद के पूर्व निदेशक रिचर्ड बैरेट ने पिछले अक्टूबर में कहा था कि 2017 में मई की शुरुआत से महिलाओं को यूरोप में करीब एक चौथाई आतंकवादी भूखंडों में शामिल किया गया था। जिहादी अभियानों के भीतर महिलाएं इतनी प्रमुख बन गईं हैं कि अल-क़ायदा ने दिसंबर में एक प्रचार पत्रिका जारी की जिसका लक्ष्य केवल महिलाओं पर है।

Beituki नामक पत्रिका जो उसके अपने होम लैग्वेज के रूप में अनुवाद किया गया है- महिलाओं को सलाह देती है कि वे अपने पति की सहायता कैसे करते हैं, जिसमें एक मुस्कान के साथ उसे बधाई दी गयी है’

TOPPOPULARRECENT