अमेरिका के फैसले से मुसलमानों में एकता पैदा होगी और यहूदी शासन का पतन हो जायेगा

अमेरिका के फैसले से मुसलमानों में एकता पैदा होगी और यहूदी शासन का पतन हो जायेगा

तेहरान। ईरान के रक्षा मंत्री अमीर हात्मी ने कहा है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प के यरूशलेम को इजराइल की राजधानी के रूप में मंज़ूरी देने से इजराइल में तबाही बढ़ेगी।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

सरकारी न्यूज़ एजेंसी आईआरएएनए के अनुसार हात्मी ने पीर के दिन कहा कि तिलअवीव से हटाकर अमेरिकी दूतावास को यरूशलेम ले जाने का फैसला मध्य पूर्व में विवाद का जिम्मेदार होगा।

हात्मी ने कहा कि अमेरिका के इस कदम से मुसलमानों के बीच एकता पैदा होगा और यहूदी शासन का पतन हो जायेगा। हात्मी ने कहा कि ईरान, अमेरिका और इजराइल की ओर से लिए गए इस क़दम की निंदा करता है। ईरानियाई सशस्त्र बलों के प्रमुख मोहम्मद बाघेरी ने चेतावनी दी है कि ट्रम्प का यह फैसला इजराइल में विद्रोह की शुरुआत है।

Top Stories