Monday , September 24 2018

जामिया अज़हर ने अवैध आलिमों को टीवी पर फ़तवा देने से रोक लगाई

मिस्र की सुप्रीम काउंसिल ऑफ़ मीडिया रेगुलेशन ने जामिया अजहर के वैध आलिमों और उलेमा और विद्वानों की एक सूची एक संवाददाता सम्मेलन में जारी की है, अब केवल उन विद्वानों को ही मिस्र के टीवी चैनलों पर फतवे जारी करने का अधिकार होगा।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

काउंसिल के अनुसार इस कदम का उद्देश्य अशिक्षित प्रचारकों के निराधार फतवों को रोकना है। यह प्रचारक टीवी चैनलों के कार्यक्रमों में आकर हास्यास्पद फतावा जारी करते रहते हैं। इसका अनुमान सितंबर में डॉक्टर साबरी अब्दुल रउफ के एक टीवी कार्यक्रम के दौरान में जारी किया गया फ़तवा से किया जा सकता है। उन्होंने फतवा दिया था कि पति अपनी मृत पत्नी के साथ हमबिस्तरी कर सकता है।

सुप्रीम काउंसिल फॉर मीडिया सामग्री की पेशेवरराना और नैतिक स्तर पर निगरानी की ज़िम्मेदार है। उसने धमकी दी है कि विद्वानों की सूची का पालन न करने वाले टीवी चैनलों और मेजबान के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

TOPPOPULARRECENT