Thursday , July 19 2018

जर्मनी: अदालत ने लाउडस्पीकर से अजान देने पर पाबन्दी लगाईं

जर्मन की अदालत ने अजान देने वाले लाउडस्पीकरों पर प्रतिबंध लगा दिया है। जर्मनी के गेल्सेंकिर्चेन में हंस-जोचिम एल और उनकी पत्नी ने वर्ष 2015 में मस्जिद के लाउडस्पीकरों से शुक्रवार की नमाज के लिए अजान के खिलाफ मुकदमा दायर किया था। स्थानीय वेस्टफलीन पोस्ट के अनुसार इसी सप्ताह गेल्सेंकिर्चेन प्रशासनिक न्यायालय ने अजान पर प्रतिबंध जारी लगा दिया।

2013 में, ओएर-एर्केन्शेविक शहर ने पहले धार्मिक-मामलों के लिए तुर्की-इस्लामिक यूनियन (डीटीआईबी) द्वारा लाउडस्पीकर के संचालन को अधिकृत किया था। तब से यह अजान हर शुक्रवार को दोपहर में इमाम द्वारा इस्तेमाल किया गया। इस युगल ने मस्जिद में इसकी अनुमति की शिकायत की, क्योंकि उन्हें यह धार्मिक स्वतंत्रता के खिलाफ महसूस हुई।

एक साल पहले अभियोगी के वकील ने कहा कि यह मुकदमा लाउडस्पीकर के परमिट के बारे में ही नहीं है, बल्कि विशेष रूप से अजान के बारे में है। अटॉर्नी के अनुसार, अजान नकारात्मक धार्मिक स्वतंत्रता को प्रसारित करने पर परमिट के अनिवार्य निषेध का उल्लंघन करती है, जिसका अर्थ है कि किसी को भी मजबूर नहीं किया जाना चाहिए। फैसले का मतलब यह नहीं है कि लाउडस्पीकरों द्वारा अजान को प्रसारित करने के लिए उपयोग को सिद्धांत रूप में निषिद्ध किया गया है।

अब शुक्रवार को केवल 12 और दो बजे के बीच अधिकतम 15 मिनट के लिए लाऊडस्पीकर का उपयोग किया जा सकता है। इससे पूर्व इज़राइल ने एक बिल में प्रावधान किया गया कि रात ग्यारह बजे से सुबह सात बजे तक लाउडस्पीकर पर अज़ान देने पर पाबंदी रहेगी। इस बिल के जरिए फज्र की अज़ान पर रोक लगाई गई थी हालाँकि अरब जगत ने इसका विरोध किया था।

TOPPOPULARRECENT