यरुशलम पर ईरान ने एर्दोगन से बात की, मुस्लिम देशों से एकजुट होने की अपील की

यरुशलम पर ईरान ने एर्दोगन से बात की, मुस्लिम देशों से एकजुट होने की अपील की

तेहरान। ईरान के राष्ट्रपति हसन रुहानी ने यरुशलम को इजरायल की राजधानी की मान्यता देने की अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप की योजना की आलोचना करते हुए बुधवार को कहा कि इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

ईरान सरकार की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के अनुसार रुहानी ने तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब अर्दोआन से फोन पर बात भी की और ट्रंप की घोषणा को गलत, अवैध, भड़काऊ एवं बेहद खतरनाक बताया।

वह इस्लामी देशों के समूह इस्लामी सहयोग संगठन (ओआईसी) के एक विशेष शिखर सम्मेलन में शामिल होने पर भी सहमत हो गए।

अर्दोआन ने मुद्दे पर चर्चा के लिए 13 दिसंबर को सम्मेलन बुलाया है। रुहानी इससे पहले तेहरान में इस्लामी एकता को बढ़ावा देने के लिए आयोजित एक अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में बोल रहे थे।

उन्होंने ट्रंप की घोषणा को लेकर कहा कि ईरान इस्लामिक मान्यताओं का हनन बर्दाश्त नहीं करेगा। ईरानी राष्ट्रपति ने कहा, मुसलमानों को इस बड़ी साजिश के खिलाफ एकजुट होना चाहिए।

देश के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला अली खुमैनी ने भी कार्यक्रम के दौरान कहा कि इस्लामी जगत निस्संदेह रूप से इस साजिश के खिलाफ खड़ा होगा और यहूदियों को इस कार्रवाई से बड़ा झटका लगेगा तथा प्यारा फिलिस्तीन आजाद होगा।

Top Stories