Tuesday , February 20 2018

बड़ी ख़बर- मलेशिया की अदालत ने जाकिर नाइक के खिलाफ मुकदमा खारिज किया

मेलशिया- कुआलालाम्पुर की उच्च न्यायालय ने भारत के इस्लामी धर्मगुरु जाकिर नाइक को देश में आश्रय देने और स्थायी निवासी (पीआर) का दर्जा देने के खिलाफ हिंद्राफ के मुकदमे को खारिज कर दिया। यह मामला हिंदुस्था के अध्यक्ष पी वेथमोर्ली और 18 अन्य ने दायर किया था। हिंद्राफ के वकील एस कार्थिगेसन ने कहा कि न्यायमूर्ति अज़ीज़ह नवावी ने चैंबर में यह फैसला किया कि सरकार के साथ इस मुकदमे में एक पार्टी के रूप में नाइक का नाम देना चाहिए था।

अजीज़ ने अपना निर्णय देने के बाद संवाददाताओं से कहा कि नाम न देना मामले को असुरक्षित बना देता है। कोर्ट ने 19 लोगों को सरकार को आरएम 5,000 की लागत का भुगतान करने का भी आदेश दिया है। कार्तिगेसन ने कहा कि समूह फैसले के खिलाफ अपील करेगा।

परकासा के अध्यक्ष इब्राहिम अली ने कहा कि वे अदालत के फैसले का स्वागत करते हैं। पिछले साल मार्च में वेथा और 18 अन्य कार्यकर्ताओं ने कथित रूप से नाइक को आश्रय देने के लिए सरकार के खिलाफ मुकदमा दायर किया था।

 

उन्होंने दावा किया कि मलेशिया में नाइक की उपस्थिति देश की सुरक्षा के लिए एक गंभीर खतरा थी। पिछले साल, नाइक को मलेशिया में पांच साल के लिए पीआर का दर्जा दिया था। भारत की राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने कहा कि नाईक ने हिंदू, ईसाई और इस्लाम धर्मों को जानबूझकर अपमानित किया था।

TOPPOPULARRECENT