Friday , July 20 2018

सीरिया में क़यामत, डॉक्टर और क्लिनिक भी निशाने पर, इलाज करना हुआ मुश्किल

10 वर्षीय उमर, जो हवाई हमले में घायल हो गए, इसके अपने परिवार के कई सदस्य हवाई हमले में मारे गाये हैं। ओटायहाह में उनके घर पर फरवरी 25, 2018 को सीरिया के के एक अस्पताल में उपचार प्राप्त किया गया

सीरिया की राजधानी दमिश्क़ के नवाह में स्थित विद्रोहियों के कब्जा वाले इलाके अलगोता पर असदी सेना के विनाशकारी और जमीनी हमलों का सिलसिला जारी है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

उनमें होने वाली विनाशकारियों और इंसानी मौतों की डॉक्टरों ने भयानक टेडिल बयान की है। उन्होंने अलअरबिया से बातचीत करते हुए बताया कि इंसानी लाशें उठाते, उनके अंग इकट्ठा करते, मलबे तले दबी जिंदगी की तलाश और बमबारी की जगह पर दुसरे हमले से बचने की कोशिश में उनका दिन गुजर जाता है।

उत्तरी अलगोता में स्थित कई कस्बों और गाँव में मौजूद मेडिकल स्टाफ का कहना है कि उनके लिए विनाशकारी बमबारी में घायल होने वाले सभी लोगों को समय के साथ प्राथमिक उपचार देना मुश्किल होता जा रहा है।

सुचना मिल रही है कि उस इलाके में अस्पतालों और अस्थाई तौर पर स्थापित किये गये क्लीनिकों को भी हमलों में निशाना बनाया जा रहा है जिसके मद्देनजर डॉक्टरों, नर्सों और अन्य मेडिकल स्टाफ के लिए घायलों को त्वरित मेडिकल सहायता देना मुश्किल होता जा रहा है।

TOPPOPULARRECENT