Sunday , November 19 2017
Home / Delhi News / श्री श्री के सत्संग से यमुना को भारी नुकसान, ठीक करने में लगेंगे 42 करोड़ रुपए : NGT पैनल

श्री श्री के सत्संग से यमुना को भारी नुकसान, ठीक करने में लगेंगे 42 करोड़ रुपए : NGT पैनल

राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण (एनजीटी) अपनी रिपोर्ट में यह तथ्य उजागर किया है कि आध्यात्मिक गुरु रविशंकर की संस्था आर्ट ऑफ लिविंग के स्‍थापना दिवस कार्यक्रम के दौरान दिल्ली स्थित यमुना तट पर विश्व संस्कृति महोत्सव के आयोजन की वजह से यमुना के डूब वाले क्षेत्र को भारी नुकसान हुआ है। अब यमुना तट को दोबारा पूर्व के जैसा तैयार करने के लिए काफी खर्च आएगा।
पीटीआई की एक रिपोर्ट के मुताबिक एक विशेषज्ञ समिति ने राष्ट्रीय ग्रीन ट्रिब्यूनल को बताया कि इसके पुनर्निर्माण के लिए अतिरिक्त 42.02 करोड़ रुपये खर्च होंगे। जल संसाधन मंत्रालय के सचिव शशि शेखर की अध्यक्षता वाली विशेषज्ञ समिति ने पैनल को बताया है कि यमुना के आसपास हुए नुकसान की भरपाई करने के लिए काफी काम किया जाना है।

 

उस महोत्सव से यमुना तट का डूब क्षेत्र बर्बाद हो गया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि पिछले साल मार्च में आध्यात्मिक गुरु रविशंकर द्वारा आयोजित इस महोत्सव की वजह से यमुना के डूब क्षेत्र में पनपने वाली जैव विविधता हमेशा के लिए बर्बाद हो गई है। इसमें सबसे अधिक नुकसान उस जगह को पहुंचा है जहां पर रविशंकर ने अपना बड़ा सा स्टेज लगवाया था। इस मामले पर आर्ट ऑफ लिविंग के प्रवक्ता ने कहा कि उनकी लीगल टीम मामले के सभी पहलुओं को देखेगी।

TOPPOPULARRECENT