अमित शाह के हिन्दी भाषा को लेकर दिया बयान पर बढ़ा विवाद, यदुरप्पा ने किया विरोध!

अमित शाह के हिन्दी भाषा को लेकर दिया बयान पर बढ़ा विवाद, यदुरप्पा ने किया विरोध!

कर्नाटक के सीएम बीएस येदियुरप्पा ने सोमवार को कन्नड़ भाषा पर जोर देते हुए कहा है कि वे कन्नड़ संस्कृति की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध हैं। जबकि शनिवार को येदियुरप्पा की पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने हिंदी भाषा पर जोर देते हुए कहा था कि यदि कोई भाषा देश को एकजुट कर सकती है, तो वह हिंदी ही है।

न्यूज़ ट्रैक पर छपी खबर के अनुसार, कर्नाटक के विपक्षी नेताओं ने शाह के बयान को प्रदेश पर हिंदी को ‘थोपने’ की कोशिश करार दिया है। वहीं अब कर्नाटक के सीएम येदियुरप्पा ने एक ट्वीट करते हुए लिखा है कि, हमारे देश में सभी आधिकारिक भाषाएं समान हैं। हालांकि, जहां तक कर्नाटक की बात है, तो कन्नड़ इस राज्य की मुख्य भाषा है।

हम कभी भी इसके महत्व से समझौता नहीं करेंगे और हम कन्नड़ तथा हमारे प्रदेश की संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध हैं। गौरतलब है कि, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने शनिवार को ऐलान किया था कि 2020 से सार्वजनिक रूप से ‘हिंदी दिवस’ मनाया जाएगा।

अमित शाह ने कहा था कि 2024 के लोकसभा चुनाव तक हिंदी नई ऊंचाइयों को हासिल करेगी। शाह ने लोगों से हिंदी भाषा के साथ जुड़ने और इसे विश्व में सबसे व्यापक रूप से इस्तेमाल करने की दिशा में कार्य करने का आग्रह किया।

इस दौरान उन्होंने लोगों से अनुरोध किया कि कम से कम अपने बच्चों से हिंदी में बात करें। उन्होंने कहा कि कोई भी भाषा तब तक जीवंत रहेगी, जब तक लोग गर्व के साथ उसमे बात करेंगे।

Top Stories