Tuesday , December 12 2017

यमन: होती द्वारा कैदियों को सीवरेज का पानी पीने और नंगा रहने पर मजबूर किया जा रहा है

यमन में ईरान समर्थक होती विद्रोहियों के जेलों में कैद नागरिकों ने उनके साथ होने वाले भीषण अत्याचारों का खुलासा किया है। कैदियों का कहना है कि होतयों के जेलों में उन्हें सीवरेज का पानी पीने और नंगा रहने पर मजबूर किया जाता है। इसके अलावा हिंसा और यातना के कई अन्य गंभीर तरीके आजमाए जाते हैं।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

अलअरबिया डॉट नेट के अनुसार इस बात का खुलासा सना में होतयों की तथाकथित सैन्य अदालत में पेश किये गये कैदियों ने किया।

हाल ही में होतयों की सैन्य अदालत में 36 अपह्रत नागरिकों को पेश किया गया। इस मौके पर होती जज अब्दुहू इस्माइल राजेह के सामने बयान देते हुए सना युनिवर्सिटी के प्रोफेसर डॉक्टर यूसुफ अलबवाब ने बताया कि उनके साथ जेल में बहुत बर्बर व्यवहार किया जाता है। एक बार सभी कैदियों को एक दूसरे के सामने पूरी तरह नंगा कर दिया गया और उन्हें मजबूरन कपड़े उतारने का कहा गया।

कैदी येमेनी प्रोफेसर का कहना था कि होती जेलर उन्हें लोहे की लाठियों से मारते हैं। हमें पांच दिन तक लगातार लटका कर रखा गया। कैद में हमें सीवरेज का गंदा पानी पीने पर मजबूर किया गया। हमें शौचालय जाने से मना किया गया और शौच अपने कोठड़ियों में ही करने के लिए मजबूर किया गया।

उन्होंने बताया कि होतयों के भयानक हिंसा के नतीजे में उनके एक साथी का गुर्दा ख़राब हो गया, मगर उसे किसी तरह की मेडिकल सुविधा प्रदान नहीं की गई। कैदियों ने अदालत से मांग की है कि वह होतयों के जेलों से रिहा करने का आदेश दे या उन्हें हिंसा से सुरक्षित स्थानों पर स्थानांतरित करने का अधिकार दिया जाए।

TOPPOPULARRECENT