Wednesday , June 20 2018

“YOGA DAY” की तकरीब में शामिल न होने पर मुस्लिम मुलाज़्मीन को नोटिस

रामपुर। उत्तर प्रदेश में रामपुर की रजा लाइब्रेरी के डायरेक्टर अजीजउद्दीन हुसैन ने 21 जून को इंटरनैश्नल योगा डे में शामिल न होने पर अपने सात मुस्लिम मुलाज़्मीन को नोटिस भेजे है कि वे इस तकरीब में क्यों शामिल नहीं हुए।

रामपुर। उत्तर प्रदेश में रामपुर की रजा लाइब्रेरी के डायरेक्टर अजीजउद्दीन हुसैन ने 21 जून को इंटरनैश्नल योगा डे में शामिल न होने पर अपने सात मुस्लिम मुलाज़्मीन को नोटिस भेजे है कि वे इस तकरीब में क्यों शामिल नहीं हुए।

इस नोटिस पर कुछ स्टाफ ने मेडिकल हवाला देते हुए प्रोग्राम में शामिल न होने की बात कही है जबकि कुछ ने ज़ाती तौर पर बताया कि रमजान के महीने में योगा में शामिल होना वे मुनासिब नहीं समझते।

रजा लाइब्रेरी की बुनियाद 1774 में रामपुर के नवाब रजीउल्लाह खान ने की थी। इसके स्टाफ में कम से कम 30 रूकन मुस्लिम हैं। सात मुस्लिम मुलाज़्मिनी में दो ख़्वातीन भी हैं जिन्होंने योगा डे की तकरीब में हिस्सा नहीं लिया।

इंटरनैश्नल योगा डे के मौके पर 60 मुलाज़्मीन को शामिल होना था। लाइब्रेरी के स्टाफ में कम से कम 30 मुस्लिम मुलाज़िम है। लाइब्रेरीके साथ ही पास की दयावती स्कूल के बच्चों और दिगर लोगों ने भी इस प्रोग्राम में हिस्सा लिया था।

नोटिस भेजे जाने के बारे में डायरेक्टर अजीजउद्दीन ने बताया कि, इंट्रनैश्नल योगा डे मनाने के लिए सरकार ने नोटिफिकेशन भेजा था। इस दौरान सात मुलाज़िम गैर मौजूद रहे और यह काबिल ऐतराज़ है। यह लाइब्रेरी हिंदुस्तानी सगीर (Indian subcontinent) की कदीम शकाफत (Ancient Culture) को सहेजने का काम करती है।

योगा भी हिंदुस्तानी कल्चर का हिस्सा है। इस तरह से मुलाज़्मीन का न आना गलत पैगाम देता है।

TOPPOPULARRECENT