Sunday , August 19 2018

Adab O Saqafat

सरकार देश की विभिन्न भाषाओँ की अकेडमियां दिल्ली में कायम करेगी: सिसोदिया

नई दिल्ली: अपने बयानों को लेकर किसी हद तक विवादित हो चुके राष्ट्रीय स्तर के शायर और आप नेता डॉक्टर कुमार विश्वास और दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया एक कार्यक्रम में साथ साथ नजर आए। मौक़ा था जश्ने बहार ट्रस्ट के बैनर तले आयोजित किये जाने वाले मुशायरा जश्ने …

Read More »

सिर्फ 6 महीनों में ही दिल्ली उर्दू अकैडमी की गवर्निंग बॉडी भंग हो गई

नई दिल्ली: सिर्फ साढ़े 6 महीने पहले गठन होने वाली दिल्ली उर्दू अकैडमी की गवर्निंग बोडी पिछले 16 जुलाई को एक सरकारी आदेश के बाद भंग कर दी गई। हालाँकि इसकी वजह से हल्के गुल्के इशारे सूत्रों से जरूर मिला था मगर उनकी पुष्टि नहीं हो पा रही थी। Facebook …

Read More »

VIDEO: शायर वसीम बरेलवी के कुछ चुनिंदा शेर

इस वीडियो में उर्दू के मशहूर शायर प्रोफेसर वसीम बरेलवी के कुछ चुनिंदा नगमे हैं। यह वह नगमे हैं जो वसीम बरेलवी को एक अलग पहचान दिलाने में कारगर साबित हुए हैं। वसीम बरेलवी के यह वह शायर हैं जो आपको मुश्किल घड़ी को आसानी से पार करने और आपके …

Read More »

जिंदगी जीने के कुछ अनमोल बातें, इस वीडियो को एक बार जरुर देखें

इस वीडियो में जिंदगी जीने के कुछ अहम् बातें कही गई है, जिसे देख और सुनकर अगर हम अम्ल कर लें तो शायद जिंदगी बहुत ही बेहतर और खुबसूरत बन जाएगी. वीडियो में एक इंसान खुद को कैसे बेहतर बना सकता है वो सारी बातें बताई गई है. इसलिए इस …

Read More »

आज़ादी के बाद उर्दू के लिए खालिद मुस्तफा के परिवार से ज्यादा सेवा किसी ने नहीं की: एम अफ़जल

नई दिल्ली: पूर्व राजदूत और आल इंडिया कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता एम अफजल ने कहा कि पत्रकार के माध्यम से उर्दू भाषा की सेवा करने वालों की इतिहास लिखी जाएगी तो जिन लोगों का नाम शीर्ष पर होगा उनमें सबसे बड़ा परिवार मौलाना अब्दुल वहीद सिद्दीकी का होगा, जिनके सुपुत्र …

Read More »

VIDEO: मुल्ला नसरुद्दीन जब घर की छत पर गधे को ले गये..

एक दिन मुल्ला नसरुद्दीन जब घर की छत पर गधे को लेकर गये गए। जब नीचे उतारने लगे तो गधा नीते उतर ही नहीं रहा था.. .. बहुत कोशिश के बाद भी जब नाकाम हुए तो ख़ुद ही नीचे उतर गए और गधे के नीचे उतरने का इंतज़ार करने लगे… …

Read More »

दिल्ली पब्लिक स्कूल में मुशायरा ‘जश्न-ए-बहार’ की आज महफ़िल सजेगी

दिल्ली: अदबी महफिलों के आयोजन में मुशायरा जश्ने बहार की अलग और मजबूत परंपरा रही है। उर्दू शायरी के समंद्र से नायाब मोतियों के रूप में हर साल जश्ने बहार के प्लेटफार्म से देश और विदेश के शायर राजधानी दिल्ली में अपना बेहतरीन कलाम मुशायरे के दर्शकों के रूबरू पेश …

Read More »

‘अदबी बहार’ जामिया हमदर्द पहुंची, आज से जश्न-ए-अदब शुरू

नई दिल्ली: गर्मी का मौसम शुरू होते ही अदबी बहार आने वाली है, राष्ट्रीय राजधानी में जश्न ए अदब का खेमा अब जामिया हमदर्द में लगेगा, जहां जामिया के साइंटिस्ट वाईस चांसलर सैयद एहतशाम हसनैन अदबी मेला की मेजबानी करेंगे। Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक …

Read More »

VIDEO: सभी का ख़ून है शामिल यहाँ की मिट्टी में, किसी के बाप का हिन्दोस्तान थोड़ी है- राहत इंदौरी

अगर ख़िलाफ़ हैं होने दो… अगर ख़िलाफ़ हैं होने दो जान थोड़ी है ये सब धुआँ है कोई आसमान थोड़ी है लगेगी आग तो आएँगे घर कई ज़द में यहाँ पे सिर्फ़ हमारा मकान थोड़ी है मैं जानता हूँ के दुश्मन भी कम नहीं लेकिन हमारी तरहा हथेली पे जान …

Read More »

कोई और नहीं, हम खुद उर्दू के दुश्मन हैं: प्रोफेसर इर्तज़ा करीम

नई दिल्ली: उर्दू संस्थानों और क्षेत्रों की बदहाली की ओर इशारा करते हुए एनसीपीयूएल के डायरेक्टर प्रोफेसर इर्तज़ा करीम ने कहा कि कोई और नहीं हम खुद ही उर्दू के दुश्मन हैं। यब बात उन्होंने राष्ट्रिय उर्दू काउंसिल के तीन दिवसीय विश्व सम्मेलन के समाप्ति समारोह से ख़िताब करते हुए …

Read More »

उर्दू मुशायरे लोकप्रियता की नई ऊंचाईयां छू रहे हैं

नई दिल्ली: मुशायरा का रिवाज भारत में शायद इतना पुराना है जिस तरह की खुद उर्दू जुबान औरटी जिस तरह यह रिवाज पुराना है, और उतना आम भी है। यहाँ तक कि इस परेशानी और अशांति के दौर में भी जबकि दुनियां में एक ओर से दूसरी ओर तक एसी …

Read More »

‘दिन भर में एक पल भी ऐसा नहीं ग़ुज़रता, जब वो सामने हो और मैं उसे न देखूं’

मैं अकसर ये सोचा करता हूं, काश उसे बता पाऊं कि वो कितनी सुंदर है। अहसास कराऊं कि उसे जीवनसाथी, दोस्त, पत्नी के रूप में पाकर मैं दुनिया का सबसे ख़ुशनसीब इंसान हूं। जब भी उसे देखता हूं उससे फिर से प्यार हो जाता है। पिछले 14 सालों से मैं …

Read More »

उर्स के मौके पर अजमेर शरीफ में मौलाना महमूद मदनी के हाथों मेडिकल कैम्प का उद्घाटन

अजमेर: कल यहां ख्वाजा की नगरी अजमेर शरीफ में जमीअत उलेमा ए हिंद के महासचिव मौलाना महमूद मदनी के हाथों मेडिकल कैंप का उद्घाटन प्रक्रिया में आया, जो दस दिवसीय उर्स के दौरान दर्शकों के लिए चिकित्सा सेवाएं प्रदान करेगा। Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक …

Read More »

मादरी जुबान हमारी मां की तरह ही है जिसकी हिफाजत करना हमारा फर्ज़ है: पद्मा सचदेवा

नई दिल्ली: साहित्य अकेडमी के नेतृत्व में विश्व मात्र भाषा दिवस के मौके पर देश की 23 भाषाओँ के शायरों पर शामिल मुशायरा का आयोजन हुआ। जिसका उद्घाटन डोगरी भाषा की प्रख्यात कवि और रायटर पद्मा सचदेवा ने कहा। अपने शुरुआती ख़िताब में उन्होंने कहा कि हम जिस भी भाषा …

Read More »

उर्दू जुबान को बढ़ावा देने के लिए इसे रोज़गार से जोड़ कर समाज के केंद्रीय धारे से जोड़ने की ज़रूरत: गवर्नर, राम नाइक

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाइक ने कहा है कि उर्दू जुबान को बढ़ावा देने के लिए रोजगार से जोड़कर इसे समाज के केंद्र धरा से जोड़ने की ज़रूरत है। श्री नायक पिछले दिनों ख्वाजा मुईनुद्दीन चिश्ती उर्दू, अरबी, फारसी विश्वविद्यालय, लखनऊ और मौलाना आजाद इंस्टीट्यूट ऑफ़ ह्युमानीटीज एंड …

Read More »

गंगा-जमनी तहज़ीब जिंदगी के समन्दर में हरे-भरे आइलैंड की तरह है: प्रोफ़ेसर शमीम हनफ़ी

नई दिल्ली: जामिया मिल्लिया इसलामिया के उर्दू विभग और एनसीपीयूएल के सहयोग से ‘फिराक यादगारी खुतबे’ का आयोजन हुआ। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए प्रोफेसर शमीम हनफ़ी ने कहा कि नीर मसूद अतीत के बजाय भविष्य का फिक्शन निगार है। लेकिन अतीत से रंग, रौशनी और खुश्बू जरूर मिक्स है। …

Read More »

डायरेक्टर महमूद फ़ारूकी ‘महभारत’ की उर्दू दास्तान पेश करेंगे

नई दिल्ली: ऊँची दीवारों और कांटेदार तारों से घिरे तिहाड़ जेल में तीन क़ैदी ऐसे गुज़रे हैं, जिन्हें जेल के उसूलों के मुताबिक उच्च शिक्षाविद माना जाता था। अलगाववादी नेता कोबिड घांडी, संसद पर हमला के कथित आरोपी मोहम्मद अफजल गुरु जिन्हें 9 फ़रवरी 2013 में फांसी दी गई थी …

Read More »

न्यूज़ पोर्टल के उद्घाटन समारोह में मौजूदा पत्रकारिता में नौजवानों की भूमिका पर चर्चा

नई दिल्ली: पूर्व राज्य केंद्रीय मंत्री और ऑल इंडिया कांग्रेस कमिटी के महासचिव डॉ. शकील अहमद ने कहा है कि मौजूदा समय में पत्रकारिता की बिगड़ती हालात सबसे बड़ी वजह खबरों में अपना जाती नजरिया शामिल करना है। जबकि खबर को खबर तक ही सीमित रखना चाहिए और इसमें नजरिया …

Read More »

हिंदी और उर्दू वालों को एक दूसरे से लाभान्वित होने की ज़रूरत

नई दिल्ली: महिलाओं की सामाजिक हालत पर कलम के ज़रिए जंग लड़ने वाली और समाज को अपनी लेख के जरिए बार बार झिंझोड़ने वाली मशहूर महिला लेखक इस्मत चुगताई जिनको दुनियां ऐनी आपा के नाम से जानती है। और जिन्होंने अफसाना निगारी, नावेल निगारी और खाका निगारी में इंकलाब लाया …

Read More »
TOPPOPULARRECENT