लॉकडाउन: सख्त कदम उठाने और लोगों की परेशानी के लिए पीएम मोदी ने माफ़ी मांगी!

लॉकडाउन: सख्त कदम उठाने और लोगों की परेशानी के लिए पीएम मोदी ने माफ़ी मांगी!

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि मन की बात मे सबसे पहले मैं सभी देशवासियों से क्षमा मांगता हूँ।

 

और मेरी आत्मा कहती है की आप मुझे जरुर क्षमा करेंगे क्योंकि कुछ ऐसे निर्णय लेने पड़े हैं जिसकी वजह से आपको कई तरह की कठिनाईयां उठानी पड़ रही हैं।

 

खास खबर पर छपी खबर के अनुसार, पीएम मोदी ने कहा कि बहुत से लोग मुझसे नाराज भी होंगे कि ऐसे कैसे सबको घर में बंद कर रखा है।

 

मैं आपकी दिक्कतें समझता हूं, आपकी परेशानी भी समझता हूं लेकिन भारत जैसे 130 करोड़ की आबादी वाले देश को, कोरोना के खिलाफ लड़ाई के लिए, ये कदम उठाए बिना कोई रास्ता नहीं था।

 

प्रधानमंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस ने दुनिया को कैद कर दिया है। ये ज्ञान, विज्ञान, गरीब, संपन्न कमजोर, ताकतवर हर किसी को चुनौती दे रहा है।ये ना तो राष्ट्र की सीमाओं में बंधा है, न ही ये कोई क्षेत्र देखता है और न ही कोई मौसम।

 

कुछ लोगों कू लगता है की वो लॉकडाउन का पालन कर रहे हैं तो ऐसा करके वो मानो जैसे दूसरों की मदद कर रहे हैं, ये भ्रम पालना सही नहीं है।ये लॉकडाउन आपले खुद के बचने के लिए है। आपको अपने को बचाना है, अपने परिवार को बचाना है।

 

पीएम  मोदी  ने कहा  कि मैं जानता हूं कि कोई कानून नहीं तोड़ना चाहता, लेकिन कुछ लोग ऐसा कर रहे हैं क्योंकि अभी भी वो स्थिति की गंभीरता को नहीं समझ रहे।

अगर आप लॉॉकडाउन का नियम तोड़ेंगे तो वायरस से बचना मुश्किल होगा। जो हमारे Front line soldiers हैं।

 

खासकर के हमारी नर्सेज बहनें हैं, नर्सेज का काम करने वाले भाई हैं, डॉक्टर हैं, पैरा मेडिकल स्टाफ हैं, ऐसे साथी जो कोरोना को पराजित कर चुके हैं।आज हमें उनसे प्रेरणा लेनी चाहिए।

Top Stories