Sunday , February 18 2018

History

सऊदी अरब के अल जौफ पहाड़ में मिला ऊंटों की 2,000 साल प्राचीन नक्काशी

रियाद : सऊदी-फ्रेंच पुरातत्वविदों को सऊदी अरब के उत्तर अल-जौफ के रेगिस्तानी चट्टानों पर ऊंटों की प्रतिमाएं मिलीं है। चट्टानों पर की गई ऊंट की नक्काशी 2,000 साल पहले की है, उनमें से कुछ अधूरे हैं, तीन चट्टानों में यह फैला हुआ दिखता है। यह अभी भी एक रहस्य है …

Read More »

बरकरार है कैलियोग्राफी का जुनून, जानें दुनिया की आखरी उर्दू कैलियोग्राफी अखबार के बारे में

हैदराबाद : इस्लामी दुनिया में, कैलियोग्राफी को बहुत अधिक हद तक और अचरज विविध और कल्पनाशील तरीके से इस्तेमाल किया गया है, जो सभी कला रूपों और सामग्री में लिखित शब्द हैं। इन कारणों से, सुलेख को इस्लामी कला की एक विशिष्ट मूल विशेषता के रूप में गिना जा सकता …

Read More »

VIDEO : ममी से वैज्ञानिकों ने बनाया फिरऔन की रानी नेफरतिती का चेहरा

कई बार इतिहास के कुछ रहस्य किताबों और खोज की दुनिया से निकल कर हमारी दुनिया में आ खड़े होते हैं। और आज हमारे सामने खड़ी है मिस्र की बेहद खूबसूरत महारानी नेफरतिती, जी हां 3 साल पहले इतिहासकारों ने 3500 साल पुराना ममी को एक मकबरे से खोज निकाला …

Read More »

160 लाख वर्ष पुराना सऊदी पर्वत ‘जबल तुवैक’ दुनिया के सबसे बड़े पेट्रोलियम भंडारों में से एक जो एक पर्यटन स्थल भी है

रियाद : दुनिया के सबसे बड़े पेट्रोलियम भंडारों में से एक जबल तुवैक रियाद से 35 किलोमीटर दूर स्थित पहाड़ियों की एक श्रृंखला जो एक संकीर्ण ढलान है जो मध्य अरब में नेजद के पठार के माध्यम से कट जाता है, उत्तर में अल-कासिम की दक्षिणी सीमा से लगभग 800 …

Read More »

‘मुसलमानों को यहूदियों के इतिहास से ही सबक लेना चाहिए’

फिलिस्तीन के 500 से अधिक गाँव अब दुनियां के नक्शे पर मौजूद नहीं हैं, लेकिन हैरत की बात यह थी कि यरमूक कैंप में उनका नाम जिंदा था। फिलिस्तीन की भूमी का हर गाँव किसी खास चीज़ के लिए मशहूर था। Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए …

Read More »

ब्रिटिश के पूर्वज गोरा नहीं बल्कि काले थे, जो आज हर 10 में से 1 ब्रिटिश से सीधा संबंध है : रिसर्च

ब्रिटेन के सबसे पुराना पूर्ण मानव कंकाल, जिसे शेडर मैन के नाम से जाना जाता है, को 1903 में छेडर गॉर्ज, सॉमरसेट में गॉफ के गुफा में छिपाया गया था। प्रागैतिहासिक काल का मानव लगभग 10,000 साल पहले यहाँ रहते थे उसकी खोपड़ी में एक बड़ा छेद से पता चलता …

Read More »

हिन्दू अगर धर्म बचाना चाहते हैं तो उन्हें जाति का विनाश करना होगा: अंबेडकर

जाति के विनाश यानी ‘एनिहिलेशन ऑफ कास्ट’ का मॉडल बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर का है। बाबा साहेब जातियों के बीच समरसता की बात नहीं करते। उनके मुताबिक जाति के ढांचे में ही ऊंच और नीच का तत्व है, इसलिए जातियां रहेंगी तो जातिभेद भी रहेगा। Facebook पे हमारे पेज को …

Read More »

VIDEO: एक गैर मुस्लिम ने कहा, भारत में दशकों तक मुसलमानों ने जालिमों का साथ दिया

इस विडियो में आप देख सकते हैं कि किस प्रकार एक गैर मुस्लिम व्यक्ति ने एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए इस्लाम धर्म का जिक्र किया। जिसमे उनहोंने बताया कि किस प्रकार से मुसलमानों ने 60 सालों तक जालिमों का साथ दिया, जबकि ये मुसलमानों का काम नहीं है। उनहोंने …

Read More »

जानें अंग्रेजों ने हिंदुओं को कैसे आश्वस्त किया कि मुसलमान निराधार और धार्मिक आक्रमणकारी थे!

यह एक ऐसा तथ्य नहीं है जिसे आसानी से ज्ञात नहीं किया जाता है, इस प्रकार शायद ही कभी यह स्वीकार किया जाता है कि एक समय में भारत में ब्रिटिश औपनिवेशिक परियोजना भारत के विच्छेदों की खुदाई में बदल गई थी। इस खुदाई का उद्देश्य उपमहाद्वीप में विभिन्न विदेशी …

Read More »

आजादी से पहले ये थे भारत के सबसे काबिल और बेहतरीन वित्तमंत्री

फरवरी का महीना आते ही साल भर का हिसाब-किताब शुरू हो जाता है. सरकार भी बही-खाता खोलकर बैठ जाती है और वित्त मंत्री बजट के जरिये आने वाले साल में होने वाले खर्चे और निवेश को लेकर अपने इरादों को जनता के सामने रखते हैं. लेकिन क्या बजट का यह …

Read More »

क्या आप सुभाष चन्द्र बोस को ‘नेताजी’ बनाने वाले आबिद सफ़रानी को जानते हैं?

सुभाष चन्द्र बोस अपने जीवनकाल में कई ऊंचे पद पर रहें। उन्होंने प्रतिष्ठित इंडियन सिविल सर्विस ज्वाईन किया। उनहोंने कांग्रेस के अध्यक्ष के साथ साथ फ़ॉर्वाड ब्लॉक के संस्थापक सदस्य भी रहे। लेकिन सुभाष चन्द्र बोस को जो ख्याती आज़ाद हिन्द फ़ौज में मिला वो कहीं नहीं मिला। Facebook पे …

Read More »

जब बत्तख मियां ने गाँधी को ज़हर मिला हुआ सूप पीने से रोक दिया था

नाथुराम गोडसे को कौन नहीं जानता जो महात्मा गांधी का हत्यारा है इसके बावजूद कुछ लोग इसकी पूजा करते हैं। मगर ठीक 31 साल पहले जब गांधी एक अंग्रेज़ को कोठी में डिनर कर रहे थे तो बत्तख मियां के हाथ में सूप का कटोरा था, सूप में जहर मिला …

Read More »

पद्मावती के जौहर की चर्चा के बीच सती प्रथा का इब्न बतूता के आंखों देखा हाल

चौदहवीं सदी में भारत की यात्रा पर आए इब्न बतूता ने एक स्त्री को सती होते खुद अपनी आंखों से देखा था. उसके लिए वह अत्यंत पीड़ादायक दृश्य था. परिणामस्वरूप बतूता घटनास्थल पर ही बेहोश हो गए थे. बतूता ने लिखा है कि ‘मैं यह ह्रदय विदारक दृश्य देख कर …

Read More »

बचपन से ही अंग्रेज़ों के खिलाफ़ आवाज़ उठाते थे अशफाक उल्लाह खां!

बात उस समय की है जब भारत स्वतंत्र नहीं हुआ था। एक बालक के अंदर देश-भक्ति कूट-कूट कर भरी थी। वह उन लोगों की बराबर मदद करता था जो आजादी के दीवाने थे और गुलामी की जंजीरे तोडने के लिए जी-जान से जुटे थे। उसकी मां ने अपने बेटे को …

Read More »

मदायिन सालेह में प्रसिद्ध “अल-फ़रीद” पैलेस नेबेतियन का नहीं बल्कि थॉमोडियन युग का है : प्रोफेसर अहमद अल-अबौदी

यह अनोखा महल, जो अल-उला के पत्थरों के सबसे प्रसिद्ध मदायिन सालेह में प्रसिद्ध है, को वास्तव में “अल-फ़रीद” अर्थ (अनूठे) कहा जाता है। यह आसपास के पहाड़ों में बनाए गए महलों के बाकी हिस्सों की तुलना में वास्तव में अद्वितीय है। यह एक स्वतंत्र रॉक जन पर मूर्ति है, …

Read More »

मुस्लिम साइंटिस्ट ‘अल-हेज़न की दुनिया’..

सिआसत हिंदी रोज़ की तरह आज फिर आपको बतायेगा एक ऐसे साइंटिस्ट के बारे में जिसे आज के समाज ने या तो कभी याद ही नहीं किया या फिर बाद में भुला दिया. आज का साइंटिस्ट वो साइंटिस्ट है जिसे आज के ज़माने के कुछ साइंटिस्ट दुनिया में पैदा हुआ सबसे बड़ा …

Read More »

दलित-मराठा संघर्ष: इतिहास भविष्य की राजनीति को प्रभावित करेगा

इस वर्ष, पुणे के निकट भीम कोरेगांव में दो-शताब्दी पुरानी लड़ाई का जश्न इस तरह से बदल गया कि यह 2019 में लोकसभा चुनाव से पहले देश के राजनीतिक पाठ्यक्रम को प्रभावित करेगी। इससे महाराष्ट्र की राजनीति को भी बढ़त मिलेगी। 200 साल पहले ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी और पेशवा …

Read More »

राजा ‘दाहिर’ जिसने अपनी गद्दी बचाने के लिए अपनी ही सगी बहन से कर ली थी शादी!

सन 700 ई. मे जब मोहम्मेद बिन क़ासिम की आयु 6 साल थी, उस समय सिंध मे जो राजा गद्दी पे बैठा उस का नाम राजा दाहर था. उस समय सिंध दो भागो मे बंटा हुआ था एक भाग की राजधानी अरोड़ थी जिसे अलवर भी कहा जाता था. दूसरे …

Read More »

नूह के जहाज के अवशेष मिलने का दावा

बाइबल व क़ुरान में वर्णित प्रलयंकारी बाढ़ के कारन पैगंबर नुह अलैहिस्सलाम ने जिंदगी को बचने के लिए एक विशालकाय जहाज का इस्तेमाल किया था। प्रभात खबर के मुताबिक, 2010 में बाइबल की घटनाओं से जुड़ी खोज करने वाले तुर्की और चीन के कुछ वैज्ञानिकों के दल ने किया कि …

Read More »

कब्रिस्तान सहित 24 ऐतिहासिक धरोहरों को खोजने में जुटी एएसआई!

नई दिल्ली। देश की लापता 24 धरोहरों की तलाश शुरू हो गई है।बार-बार संसद में लापता धरोहरों का मामला उठने के बाद एएसआई ने अपने स्थानीय अधिकारियों को निर्देश दिया है कि इन धरोहरों की तलाश शुरू की जाए। इन अनमोल स्मारकों में कई मंदिर, बौद्ध खंडहर, कब्रिस्तान, मीनारें आदि …

Read More »
TOPPOPULARRECENT